300 किलो चांदी के गर्भगृह में विराजेंगे इंदौर के रणजीत हनुमान, ये है कुछ खास बातें

इंदौर शहर (Indore) के प्रसिद्ध रणजीत हनुमान मंदिर (Ranjeet Hanuman) का गर्बग्रह सुसज्जित होने जा रहा है।

ranjeet hanuman

इंदौर : इंदौर शहर (Indore) के प्रसिद्ध रणजीत हनुमान मंदिर (Ranjeet Hanuman) का गर्बग्रह सुसज्जित होने जा रहा है। बताया जा रहा है कि 134 साल पुराने इस मंदिर में अब रणजीत सरकार 300 किलो की चांदी से बने गर्भगृह में विराजित होंगे। गर्भगृह के भीतर और बाहर की दीवार पर चांदी लगाई जाएगी।

वहीं इस गर्भगृह का द्वार भी चांदी से बनाया जाएगा। इतना ही नहीं खास बात तो ये है कि ऊपर की छत भी चांदी के यंत्र से बनाई जाएगी। जानकारी के मुताबिक, नवरात्रि के दूसरे दिन से ही मंदिर में कार्य की शुरुआत हो जाएगी। दरअसल, 3 अप्रैल को अभिजित मुहूूर्त निकला है। जिसमें ये कार्य किया जाएगा।

Must Read : 30 March : देशभर के लाइव भगवान दर्शन

इस कार्य में करीब 300 किलो चांदी का इस्तेमाल होगा। इस मंदिर के कार्य के लिए चांदी पर नक्काशी का काम राजस्थान के कारीगर करने वाले हैं। बताया जा रहा है कि 134 साल पुराने इस मंदिर को लेकर भक्तों में काफी ज्यादा आस्था है। ऐसे में अब चांदी से बनाए जाने के बाद इस मंदिर का नजारा कुछ और ही होने वाला है।

मंदिर को लेकर मुख्य पुजारी पं. दीपेश व्यास 3 अप्रैल की सुबह 11.30 से 12.30 बजे से इस निर्माण कार्य की शुरुआत होगी। ऐसे में इस निर्माण में पहले दिवार पर सागवान की लकड़ी के पटिये लगाए जाएंगे उसके बाद चांदी की परत उस पर चढ़ाई जाएगी। गर्भगृह की छत पर चांदी से निर्मित हनुमान यंत्र या श्रीराम यंत्र लगाया जाएगा।

कुछ खास बात –

  • 134 वर्ष प्राचीन मंदिर है।
  • 300 किलो से ज्यादा चांदी का उपयोग होगा।
  • 3 अप्रैल को अभिजित मुहूर्त में कार्य आरंभ होगा।
  • 85 किलो चांदी गर्भगृह के द्वार में लग सकती है।
  • 10 फीट गहरा, 10 फीट चौड़ा और 15 फीट ऊंचा गर्भगृह है।
  • 15 फीट गर्भगृह के द्वार की ऊंचाई होगी।
  • 40 किलो ही चांदी मंदिर के पास अभी है।
  • 250 घनफीट सागवान की लकड़ी का इस्तेमाल होगा।
  • 1 वर्ष से भी अधिक समय में निर्माण कार्य पूरा होगा।
  • गर्भगृह के भीतर और बाहरी भाग में चांदी लगेगी।