मुंबई: बुधवार को बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद के कई ठिकाओं पर आयकर विभाग ने छापेमारी की कार्रवाई की है. इस मामले को लेकर सियासी बवाल भी शुरू हो गया है. पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस छापेमारी को लेकर आपत्ति जताई थी. वहीं, अब शिवसेना ने इस कार्रवाई को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है.

पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित संपादकीय के जरिए शिवसेना ने ‘खुन्नस निकालने’ वाली बात बताई है. इसके अलावा पार्टी ने अभिनेता पर हुई कार्रवाई की आड़ में महाराष्ट्र के मंत्रियों के खिलाफ जारी जांच एजेंसियों की कार्रवाई पर भी सवाल उठाए हैं.

शिवसेना ने आरोप लगाया है कि सोनू सूद के विपक्षी दलों की सरकार के साथ जुड़ने के कारण ये कार्रवाई हुई. संपादकीय के अनुसार, “सोनू सूद को कंधे पर बैठानेवालों में भाजपा आगे थी. सोनू सूद अपना ही आदमी है, ऐसा उनकी ओर से बार-बार याद दिलाया जा रहा था. परंतु इस सोनू महाशय द्वारा दिल्ली में केजरीवाल सरकार के शैक्षणिक कार्यक्रम के ‘ब्रांड अंबेसडर’ की हैसियत से सामाजिक कार्य करने का निर्णय लेते ही उस पर आयकर विभाग के छापे पड़ गए.”