Pune : पुणे में ढही निर्माणाधीन इमारत, 5 मजदूरों की मौत 2 गंभीर, पीएम ने ट्वीट कर कहा- आहत हूं…

Pune : महाराष्ट्र (Maharashtra) के पुणे में बन रही एक इमारत गिरने (Pune Building Collapsed) की खबर सामने आ रही है, ये घटना येरवडा के शास्त्री नगर इलाके में घटी है।

pune

Pune : महाराष्ट्र (Maharashtra) के पुणे में बन रही एक इमारत गिरने (Pune Building Collapsed) की खबर सामने आ रही है बताया जा रहा है कि ये घटना येरवडा के शास्त्री नगर इलाके में घटी है। इस 5 मजदूरों की मौत हो गई है। जानकारी मिली है कि घटना की सुचना मिलने के बाद पीएम मोदी ने भी दुःख जताया है। बता दे, जहां 5 लोगों की मौत इस हादसे में हुई है वहीं 2 गंभीर रूप से घायल है।

अब इस इमारत कैसे गिरी इसका पता लगाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जो बिल्डिंग गिरी वो एक मॉल के लिए बनाई जा रही थी। उसका आधे से ज्यादा काम हो चुका था लेकिन बीच में ही ये गिर गई जिसके चलत्ते ये हादसा हुआ। इस हादसे को लेकर पुलिस का कहना है कि मामले की जांच चल रही है औऱ दोषी के खिलाफ कार्रवाई का जाएगी।

डिसीपी ने दी जानकारी –

इसके अलावा डिसीपी रोहिदास पवार ने कहा है कि ये घटना रात करीब 11.45 बजे घटी है। ऐसे में उन्होंने बताया है कि दरअसल, यहां मॉल के निर्माण का कार्य चल रहा था और तभी अचानक से स्टील वर्क के दौरान इमारत का हिस्सा ढह गया। जिसके चलते 5 की मौत हो गई वहीं 2 गंभीर रूप से घायल है। उन्होंने बताया कि प्राथमिक जांच में यह सामने आया है कि काम के दौरान जिन सावधानियां ली जानी चाहिए थीं, उनकी व्यवस्था कॉन्ट्रैक्टर की तरफ से नहीं की गई थी।

Must Read : Numerology 4 February 2022: ये है आपका लकी नंबर और शुभ रंग, जानिए कैसा रहेगा दिन

पीएम ने जताया दुःख –

इस हादसे को लेकर पीएम मोदी ने भी दुःख जताया है। उन्होंने ट्वीट शेयर कर कहा है पुणे में निर्माणाधीन इमारत में हुए हादसे से आहत हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना जाहिर करता हूं। इस हादसे में घायल हुई सभी लोगों के जल्दी स्वस्थ होने की आशा करता हूं।

जांच के दिए आदेश –

जानकारी के अनुसार, इस हादसे के बाद पुणे महानगरपालिका ने भी जांच के आदेश जारी कर दिए है। इस घटना के बाद से ही जांच की जा रही है। पता लगाया जा रहा है कि किस कारण से ये हादसा हुआ है। इसके अलावा ये भी जांच की जा रही है कि किस तरह से और कैसे स्ट्रक्चर के साथ मॉल के निर्माण की अनुमति दी गई थी ,इसके लिए दस्तावेज देखे जा रहे हैं। इतना ही नही, रात में काम करने की अनुमति थी या नहीं, इसकी जानकारी भी निर्माण विभाग से ली जा रही है।