इंदौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को इंदौर में प्रवासी भारतीय सम्मेलन में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने इंदौर के लोगों की जामकर तारीफ की। प्रधानमंत्री मोदी ने 17वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन में कहा कि प्रवासी भारतीय भारत के ब्रांड एंबेसडर हैं। मैं भारत के सभी प्रवासी भारतीयों को भारत का ब्रांड एंबेसडर कहता हूं। आप सभी ‘राष्ट्रदूत’ हैं।

PM मोदी ने इंदौर के लजीज व्यंजनों की जमकर तारीफ की तो वहीं, संबोधन खत्म करने के बाद सम्मेलन में शामिल होने आए 70 देशों के करीब 40 प्रवासी भारतीयों के साथ लंच किया। पीएम मोदी के लंच में मालवा के कई स्वादिष्ट व्यंजनों को शामिल किया गया था, जिनका उन्होंने जायका लिया।

लंच में मालवी व्यंजनों के साथ विदेशी डिश भी परोसी गई। पोहा, कई किस्म के सेव के अलग स्टॉल हैं, जिनमें इंदौर की खास चीजों को परोसा गया है। भुट्टे की कीस, गराडू चाट, नचनी क्रेकर्स, दही चंदिया जैसे व्यंजन लंच में शामिल रहे। बाजरे का खिचड़ा, सांवा की मीठी खीर, केसरिया जलेबी, शिकंजी, गुलाबजामुन, सीताफल राबड़ी, गाजर का हलवा मीठे में परोसे गए।

Also Read – Pravasi Bharatiya Divas : अतिथियों का अपमान, लंदन के डिप्टी मेयर को अंदर जाने से रोका! देखें VIDEO

विदेशी मेहमानों के लिए खास तौर पर इंदौरी ज़ायका तैयार किया गया है। आज मिलेट डे है इसलिए Millet से बने व्यंजन खास तौर पर बनाए गए। मिलेट की खीर, जलेबी, मिठाइयों में रखी गई। इंदौर की अलग-अलग डिश भी खाने में रखी गई।

पीएम मोदी के साथ लंच करने के लिए 140 लोगों को शामिल किया गया। इसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नाम कमा चुके भारतीय उद्योगपति, अंतराष्ट्रीय राजनेता और भारत के एनआर आई शामिल किए गए। इंदौर से शामिल लोगों ने बताया कि लंच के दौरान निवेश की रणनीतियों पर जोर रहा। इसके साथ मोदी ने भारतीय संस्कृति और परंपरा को अंतरराष्ट्रीय स्तर तक ले जाने के लिए प्रवासी भारतीयों से चर्चा की।

देश कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू मंगलवार यानि 10 जनवरी को प्रवासी भारतीय सम्मेलन कार्यक्रम का समापन करेंगी। इससे पहले राष्ट्रपति विदेशों में अपने अपने क्षेत्र में उपलब्धियां हासिल करने वाले प्रवासी भारतीयों का सम्मान करेंगी।