‘अहोई अष्टमी’ इस दिन करे संतान की दीर्घायु के लिए प्रार्थना

0
43
ahoi ashtami

अहोई अष्टमी दिवाली से आठ दिन पहले मनाया जाने वाला त्योहार महिलाओं के लिए खास होता है। इस दिन वे अपनी संतान की दीर्घायु के लिए प्रार्थना करती हैं।

Image result for ahoi mata
via

कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष के आठवें दिन मनाया जाता है। इस दिन शुभ मुहूर्त में अहोई माता की पूजा करने से संतान का जीवन खुशियों से भर जाता है। इस बार अहोई व्रत 31 अक्टूबर को पड़ रहा है। माताएं शाम 05 बजकर 45 मिनट से शाम 07 बजकर 03 मिनट तक पूजा कर सकती हैं।

Image result for ahoi mata
via

इस व्रत में महिलाओं को सुबह उठकर स्नान करना चाहिए। स्वच्छ वस्त्र धारण कर मिट्टी के मटके में पानी भरना चाहिए। भोग में पूरी, हलवा, चना आदि होता है।पूरे दिन कुछ खाएं नहीं और अहोई माता का ध्यान करें। आपके संतान की जीतनी आयु होगी उतने ही चांदी के मोती धागे में डालें और पूजा में रखें।

Image result for ahoi mata
via

शाम को अहोई माता की पूजा होती है .माता को भोग लगाया भोग लगाया जाता है। अहोई माता की माला को दीवाली तक गले में पहनना होता है। शाम के समय चंद्रमा को अर्घ्य देकर कच्चा भोजन किया जाता है।इस व्रत को तारे देखने के बाद खोला जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here