दुनिया में लगातार दर साल दर महंगाई बढ़ती ही जा रही है। इसी बीच लोगों को आर्थिक रूप से कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। बढ़ती महंगाई के दौरान अगर आप अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करना चाहते है तो पोस्ट ऑफिस की स्कीम किसान विकास पत्र (KVP) के ब्याज दरों में वृद्धि कर दी गई है। जिससे आपका निवेश पैसा 120 महीनों में डबल हो जाएंगा।

इतने फिसदी बढ़ी ब्याज दरें

निवेश करने की सोच रहे है और आपका भविष्य पहले से और बेहतर बनाना चाहते है। फिर पोस्ट ऑफिस की लोकप्रिय योजना किसान विकास पत्र निवेश के लिए अच्छा विकल्प साबित हो सकती है। सरकार ने हाल ही में इस स्कीम की ब्याज दरों में इजाफा किया है। केंद्र ने स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर मिलने वाले ब्याज दर में 1.10 फीसदी तक की बढ़ोतरी की है।

इसके तहत किसान विकास पत्र की ब्याज दरें भी 20 बेसिस प्वाइंट बढ़ाई गई हैं। सरकार के इस कदम से स्कीम में निवेश करने वाले निवेशकों का पैसा पहले की तुलना में तीन महीने पहले ही डबल हो जाएगा।

केंद्र सरकार के ऐलान के बाद उठाया कदम

केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2023 के बाद से अब किसान विकास पत्र में निवेशकों का पैसा 123 महीनों के बजाय 120 महीने में ही डबल हो जाएगा। ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बाद Kisan Vikas Patra में इन्वेस्टमेंट पर 7.20 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा। ब्याज दरों में इजाफे से पहले इस योजना के तहत निवेशकों को 123 महीने के निवेश पर 7 फीसदी की दर से ब्याज मिलता था। नए बदलाव के बाद अब मैच्योरिटी 10 साल में हो जाएगी।

1000 रुपये से शुरू करें इन्वेस्टमेंट

पोस्ट ऑफिस की Kisan Vikas Patra स्कीम में आप महज 1000 रुपये से शुरुआत कर सकते हैं। इसके बाद 100 रुपये के मल्टीपल में इन्वेस्ट किया जा सकता है। गौरतलब है कि इस योजना में निवेश की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं है। इसके तहत सिंगल और ज्वाइंट अकाउंट खोले जा सकते हैं। इसके साथ ही निवेश को नॉमिनी की सुविधा भी मिलती है।

कैसे खुलवा सकते हैं खाता?

किसान विकास पत्र योजना में 10 साल से कम उम्र के नाबालिग का अकाउंट भी खुल सकता है। हालांकि, उनकी तरफ से कोई वयस्क खाता खोल सकता है और जैसे ही नाबालिग की उम्र 10 साल की हो जाती है, अकाउंट उसके नाम पर ट्रांसफर कर दिया जाता है। इसमें अकाउंट खुलवाना बेहद आसान हैं।

इसके लिए पोस्ट ऑफिस में जमा रसीद के साथ आवेदन भरना होगा और फिर निवेश की रकम नगद, चेक या डिमांड ड्राफ्ट से जमा करनी होगी। आपको आवेदन के साथ अपना पहचान पत्र भी जोड़ना होगा। इसके बाद आवेदन और पैसा जमा करते ही आपको किसान विकास पत्र का सर्टिफिकेट मिल जाएगा।