MP में एक बार फिर भीषण सर्दी से थोड़ी चैन की सांस मिली है। अधिकतर शहरों में रात का पारा 8 डिग्री के पार आ गया है। दिन का टेंपरेचर 25 से 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि आज भी भीषण सर्दी से आराम रहेगा, लेकिन रविवार से 3 दिन तक ग्वालियर-चंबल और बुंदेलखंड के 15 जिलों में थोड़ी बूंदाबांदी होने की भी आशंका बनी हुई हैं. इसी के साथ भोपाल में भी बादल छाए रहेंगे।

उच्च मौसम स्पेशलिस्ट वेदप्रकाश सिंह ने बताया कि ईरान के ऊपर वेस्टर्न डिस्टर्बेंस सक्रिय हो गया है। इस कारण ग्वालियर, चंबल और बुंदेलखंड में 21 जनवरी से बादल छाने लगेंगे, जबकि 22 से 24 जनवरी के मध्य मद्धम से मद्धम थोड़ी बूंदाबांदी हो सकती है। भोपाल में भी वेदर का प्रभाव देखने को मिलेगा। जहां बादल छा सकते हैं, लेकिन वर्षा होने की आशंका नहीं है। इंदौर में मौसम क्लियर रहेगा। और इसी के साथ थोड़ी हल्की सर्दी भी रहेगी।

Also Read – Optical Illusion Quiz: बूझो तो जानें! तस्वीर में छिपा है एक डॉगी, ढूंढने वाला कहलाएगा जीनियस

इन जिलों में हल्की बारिश का पूर्वानुमान

22 से 24 जनवरी के मध्य ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, दतिया, अशोकनगर, श्योपुर, मुरैना, भिंड सहित बुंदेलखंड के दतिया, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, दमोह, निवाड़ी और पन्ना में मध्यम वर्षा होने की प्रबल सम्भावना भी बनी हुई है.

भोपाल में 20 की गति से चली दक्षिणी हवाओं ने चढ़ाया पारा

भोपाल में एकाएक चली हवाओं से शुक्रवार को पतझड़ जैसा वेदर हो गया। इनकी गति एक घंटे में लगभग 20 किलोमीटर प्रतिघंटा तक पहुंच गई। दक्षिण से आ रही हवाओं ने सर्दी के तेवर नरम कर दिए। पारा ऐसा चढ़ा कि करीबन 13 वर्ष में दिन और रात का पारा एक साथ रिकॉर्ड 6 डिग्री सेल्सियस तक चढ़ गया। अगले दो से तीन दिन तक हवाओं की स्पीड इसी तरह बनी रहेगी। इससे सुबह और रात्रि में ठंड से चैन मिलेगा।

इंदौर में थरथराहट से आराम, तेज धूप ने चढ़ाया पारा

इंदौर में शुक्रवार को प्रात 7 बजे तक तो मौसम में ठंडा माहौल था, लेकिन इसके बाद धूप धीमे धीमे अपना प्रभाव दिखाने लगी। अधिक से अधिक टेंपरेचर 28.5 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, जो आधारण से 3 डिग्री ज्यादा रहा। रात्रि के टेंपरेचर में भी तीव्रता से वृद्धि हुई थी। बुधवार रात्रि को पारा 9.4 डिग्री था, जो गुरुवार रात्रि को बढ़कर 13.3 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 3 डिग्री अधिक रहा। दरअसल, शुक्रवार को हवा का रुख पूरी तरह परिवर्तित हो गया हैं। पुरे दिन पूर्वी हवा चलती रही। इसी कारण से सर्दी न्यूनतम महसूस हुई।

ग्वालियर-चंबल में धुआं छा सकता है

5 दिन से निरंतर चल रही उत्तरी हवा की दिशा का रुख परिवर्तन शुक्रवार को दक्षिण-पश्चिमी हो गया। इससे अब ग्वालियर-चंबल में बादल डेरा डालेंगे। साथ ही रात्रि का पारा बढ़ेगा।16 जनवरी से लेकर 20 जनवरी तक रात्रि का पारा 4 डिग्री से नीचे चल रहा था। इससे रात में ज्यादा लोग ठंड का अनुभूति कर रहे थे, जबकि सुबह धूप खिलने के बाद भी ठंडी हवाएं लोगों को कंपकंपा रही थीं। लेकिन, अब हवा की दिशा परिवर्तित हो चुकी है। इससे रात्रि का पारा चढ़ेगा। बादल के डेरा ज़माने के कारण से घना कोहरा रह सकता है।