जानलेवा हुई जहरीली धुंध, 40 फीसदी लोग बोले- छोड़ देंगे दिल्ली

0
87

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। हालांकि दिल्ली सरकार सहित केंद्र सरकार ने राहत पूर्ण कुछ कदम उठाए हैं, लेकिन कोई फायदा होता नहीं दिखा रहा है। सोमवार सुबह 7 बजे दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 708 रिकॉर्ड किया गया है। वहीं दिल्ली और एनसीआर के कई इलाकों में तो स्थिति और खतरनाक साबित हो रही है। एक आॅनलाइन सर्वे के मुताबिक 40 प्रतिशत लोग दिल्ली और एनसीआर छोड़ने का मन बना चुके हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एयर क्वालिटी इंडेक्स में 50 तक का आंकड़ा ही सांस लेने के लिए शुद्ध हवा मानी जाती है, मगर इस समय दिल्ली में हवा में प्रदूषण की मात्रा 924 तक पहुंच गई है। समाचार एजेंसी आईएएनएस के अधिकारियों ने बताया कि करीब 300 टीमें प्रदूषण को कम करने का प्रयास कर रही है। इस काम के लिए जरूरी मशीनरी राज्यों में बांटी गई हैं। केंद्र सरकार की नजर मुख्य रूप से सात औद्योगिक क्षेत्रों और बड़े यातायात गलियारों पर है। इधर, दिल्ली की जनता को राहत देेने के लिए सरकार ने 04 नवंबर से ऑड इवन स्कीम लागू की है। दिल्ली सरकार ने जहरीली हो चुकी दिल्ली की हवा के विषैले प्रभाव को कम करने के लिए प्रयास किया है।

बताया जा रहा है कि ऑड-इवन सिस्टम दिल्ली में तीसरी बार लागू किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ऑड-इवन सिस्मट पेट्रोल-डीजल समेत सीएनसी से चलने वाली गाड़ियों पर भी लागू होगा। यही नहीं अगर आप हरियाणा, यूपी या भारत के किसी अन्य राज्य से भी कार लेकर दिल्ली आते हैं तो आपको इस नियम का पालन करना होगा। कार में सफर कर रही अकेली महिला या फिर स्कूली बच्चे के साथ जा रही महिला को ऑड ईवन नियम से छूट मिलेगी। इसके अलावा इलेक्ट्रिक कारों पर भी ऑड इवन नियम लागू नहीं होगा। दिल्ली सरकार ने दोपहिया वाहनों को भी इस नियम से छूट दी है। इसके अलावा रविवार 10 नवंबर को भी ये नियम लागू नहीं होगा।

यानी कि इस दिन ऑड और इवन दोनों नंबर की गाड़ियां चल सकेंगी। इस नियम से आपातकालीन सेवाओं जैसे एंबुलेंस, फायर सर्विस को छूट मिलेगी। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री की गाड़ियां भी इस नियम के दायरे से बाहर है। इसके अलावा दिव्यांगों को भी नियम से छूट देने का फैसला किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here