मध्य प्रदेश के पेंशनर्स धारक अपनी मांगों को लेकर 10 अक्टूबर को 12 से 4 बजे तक इंदौर के माँ हरसिद्धि मंदिर पर धरना प्रदर्शन करने वाले हैं। इसके बाद वह कलेक्टर के माध्यम से प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह को ज्ञापन सौंपेंगे। इसमें प्रदेश के साथ साथ इंदौर जिले के पेंशनर्स, विद्युत मंडल एवं नगर पालिक निगम इंदौर की पेंशनर्स शामिल होने वाले हैं।

क्यों करेंगे धरना प्रदर्शन

राज्य के पेंशनर्स विद्युत मंडल एवं नगर पालिक निगम के पेंशनर्स 10% राहत राशि, छटे वेतन आयोग का 32 माह एवं सातवे वेतन आयोग का 27 माह के एरियर, राज्य पुनर्गठन अधिनियम 2000 की धारा 49 अनुसूचि 6 को समाप्त करने, पेंशनर्स के समुचित चिकित्सा सुविधा के अभाव में 1000/- चिकित्सा भत्ता देने, पेंशनर्स की 65, 70, 75 एवं 80, 85, 90, 95 एवं 100 वर्ष की आयु प्रारंभ हेते ही क्रमशः 5, 10, 15, 20, 30, 40, 50 तथा 100 प्रतिशत अतिरिक्त पेंशन दिये जाने तथा 2004 के बाद समाप्त की गई पेंशन को पुनः चालू करने मांग करेंगे।

Also Read : 78 साल के शख्स ने 60 वर्ष छोटी लड़की से की शादी, इसके पहले दोनों में हुआ था प्यार

सरकार कर रही है अनदेखा

उपस्थित पेंशनर्स ने शिवराज सरकार के प्रति उनकी मांगो को अनदेखाकर आर्थिक मांगो में राहत राशि ना देना, 32 एवं 27 माह का एरियर न देकर माननीय उच्च न्यायालय के निर्णय को टालने के फलस्वरूप अवमानना प्रकरण लगाने के भय से सरकार द्वारा पुर्नविचार याचिका पेश कर पेंशनरों की मांगो को लंबे समय तक अनदेखा करने से पेंशनर्स क्रोधित है 10 अक्टोबर 2022 को पूरे जोश एवं रोष के साथ माता हरसिद्धि मंदिर पर दोपहर 12 बजे से दोप. 4 बजे तक धरना देकर 4 बजे जुलूस के रूप में जिलाधीश कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन देंगे।

आज हुई थी बैठक

आज की बैठक को पेंशनर्स एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष श्री श्याम जोशी, जिला शाखा अध्यक्ष एवं प्रांतीय महामंत्री बाबूलाल शर्मा, म.प्र. विद्युत मंडल पेंशनर्स एसो. के अध्यक्ष श्री पी.एल. मकवाना, सचिव आर.सी. सोमानी, एवं न.पा.नि. पेंशनर्स एसो. के अध्यक्ष श्री आर. के. धेमन एवं सचिव श्री अरूण गोधा ने भी संबोधित किया।