CAB पर इमरान को भारत की नसीहत- बयानबाजी की बजाए अपने अल्पसंख्यकों पर ध्यान दे पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक पर उठाए गए सवालों पर भारत ने करारा जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इमरान को भारत के अािंतरिक मामलों में दखल देने के बजाए अपने देश के अल्पसंख्यों पर ध्यान देना चाहिए।

0
30
ravish kumar

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक पर उठाए गए सवालों पर भारत ने करारा जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इमरान को भारत के अािंतरिक मामलों में दखल देने के बजाए अपने देश के अल्पसंख्यों पर ध्यान देना चाहिए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि ‘हमें नहीं लगता कि हमें पाकिस्तान पीएम के हर बयान का जवाब देना चाहिए। उनके सभी बयान अनुचित हैं, उन्हें भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने के बजाय पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति पर ध्यान देना चाहिए।’

वहीं बांग्लादेशी विदेश मंत्री के दौरा रद्द किए जाने को लेकर रवीश कुमार ने कहा है, ‘अपना दौरा रद्द करने का स्पष्टीकरण वे दे चुके हैं। हमारे रिश्ते मजबूत हैं। जबकि दोनों देश के नेता भी कह चुके हैं कि हमारे रिश्तों का सुनहरा वक्त है।’

प्रवक्ता ने आगे कहा, ‘यहां कुछ भ्रम दिखाई देता है। हमने समझाया है कि वर्तमान सरकार में धार्मिक उत्पीड़न नहीं हो रहा है। हमने भी स्वीकार किया है और हमें पता है कि वर्तमान बांग्लादेश सरकार में संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक अल्पसंख्यकों की चिंताओं को दूर करने के लिए कई कदम उठाए हैं।‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here