पाकिस्तानी मंत्री का बेतुका बयान- भारत ने दी श्रीलंका के खिलाड़ियों को धमकी

पाकिस्तानी विज्ञान और तकनीकी मंत्री फवाद चौधरी ने भारत को लेकर एक बार फिर बेतुका बयान दिया हैै। दरअसल, श्रीलंका के खिलाड़ियों ने पाकिस्तान में खेले जाने वाले मैच के लिए इस्लामाबाद जाने से मना कर दिया है। जिसके बाद अब चौधरी ने इसके लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है।

0
favad choudhary

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी विज्ञान और तकनीकी मंत्री फवाद चौधरी ने भारत को लेकर एक बार फिर बेतुका बयान दिया हैै। दरअसल, श्रीलंका के खिलाड़ियों ने पाकिस्तान में खेले जाने वाले मैच के लिए इस्लामाबाद जाने से मना कर दिया है। जिसके बाद अब चौधरी ने इसके लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है।

पाक मंत्री ने मंगलवार दोपहर को ट्वीट कर लिखा है कि ‘कमेंटेटर्स से मुझे बताया कि भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को धमकी दी है कि अगर उन्होंने पाकिस्तान दौरे से इनकार नहीं किया तो उन्हें आईपीएल से बाहर कर दिया जाएगा। यह वास्तव में सस्ती रणनीति है। खेल से लेकर अंतरिक्ष तक यह एक ऐसी अंधराष्ट्रीयता है, जिसका हमें विरोध करना चाहिए, निंदा करनी चाहिए। भारतीय खेल प्राधिकरण की ओर से वाकई एक सस्ता कदम।’

गौरतलब है कि 27 सितंबर से 19 अक्टूबर के बीच श्रीलंका को पाकिस्तान में तीन वनडे और तीन टी-20 मैच खेलने हैं, लेकिन श्रीलंका टीम ने पाकिस्तान में जाने से ही इनकार कर दिया। श्रीलंका टीम के खिलाड़ी लसिथ मलिंगा, निरोशन डिकवेला, कुशल जनिथ परेरा, धनंजय डी सिल्वा, थिसारा परेरा, अकीला धनंजय, एंजेलो मैथ्यूज, सुरंग लकमल, दिनेश चांदीमल और डिमूथ करुनारत्ने ने इस आगामी सीरीज के लिए अपनी असमर्थता जताई।

हालांकि श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड ने एक बैठक कर खिलाड़ियों को सुरक्षा मुहैया करने का वादा किया है, लेकिन टूर्नामेंट भाग लेना का फैसला खिलाड़ियों के उपर छोड़ा था, इसके बाद ही टीम ने टूर्नामेंट में भाग लेने से साफ इनकार कर दिया।

मालूम हो, तीन मार्च, 2009 को लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच खेलने के लिए श्रीलंका की टीम होटल से जब बाहर निकली तो तालिबान और लश्कर-ए-झांगवी के आतंकियों ने उनकी बस पर हमला कर दिया। उस कायराना हमले में आठ लोग मारे गए और सात श्रीलंकाई प्लेयर्स और स्टाफ घायल हो गए थे।