Imran Khan
Imran Khan

पाकिस्तान (Pakistan) में बीते कुछ दिनों से सियासी घमासान मचा हुआ है. कई दिनों से चले आ रहे अटकलों पर शनिवार को विराम लग गया है. जानकारी के अनुसार, विपक्ष की ओर से पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के बाद इमरान खान (Imran Khan) की सरकार गिर गई है. वोटिंग में इमरान खान के समर्थन में सिर्फ 174 वोट ही डाले गए. जिसके चलते इमरान खान की सरकार गिर गई.

यह भी पढ़े – प्रश्न पत्र लीक मामले में डॉ आनंद राय को मिली बेल, विवेक तन्खा ने दी जानकारी

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी के फैसले को ध्यान में रखते हुए 9 अप्रैल को अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान कराने का आदेश जारी किया था. वहीं, वोटिंग को कराने से स्पीकर असद कैसर ने इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि, “वह अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराकर इमरान खान के साथ थोखा नहीं कर सकते. इसके लिए वह कोई भी सजा भुगतने को तैयार हैं. इमरान खान के साथ 30 साल का रिश्ता है, इसलिए, वह उन्हें बाहर करने के लिए मतदान की अनुमति नहीं दे सकते.”

यह भी पढ़े – पुलिस सुधार: यानी एक जिम्मेदार, सक्षम और मानवीय पुलिस प्रणाली

दूसरी ओर, इमरान खान ने कहा कि, “हार नहीं मानूंगा और अपने खिलाफ विदेशी साजिश को नाकाम कर दूंगा. मुझे जेल हो सकती है, लेकिन मैं आखिरी गेंद तक अपने देश के लिए लड़ता रहूंगा.” फ़िलहाल पीएमएलएन के नेता शाहबाज शरीफ पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री होंगे. आज यानी रविवार दोपहर दो बजे सदन की बैठक बुलाई जा सकती है. ऐसा बताया जा रहा है कि इसी बैठक में प्रधानमंत्री चुने जा सकते हैं.