बीते दो दिनों से मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में सर्दी कहर अभी भी जारी रही है. रात तो रात दिन में भी ठंडी हवाओं का दौर चल रहा है. आपको खास बात बताएं कि प्रदेश के लगभग 17-18 जिलों में न्यूनतम टेंपरेचर 7 डिग्री या उससे कम दर्ज किया गया. मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण भारी बर्फबारी हुई है. इस पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने से बर्फीली हवाओं का रुख इधर हो गया है. ऐसे में समूचे प्रदेश में कड़ाके की ठंड का दौर 19 जनवरी तक बना रहने की आशंका है.

मध्यप्रदेश में सबसे कम तापमान की बात की जाए तो सागर और रीवा संभाग के जिलों में पहाड़ों जैसी सर्दी का आलम है. प्रदेश का सबसे कम टेंपरेचर 2 डिग्री के आसपास पहुंच गया है और राजगढ़ एवं दतिया सबसे ठंडे रहे. वही ठंड के अलर्ट से अच्छी खासी चिंता हो रही है, वहीं भोपाल सहित कई जिलों में कोहरे से भी लोगों को परेशानी हो रही हैं. राजधानी भोपाल और जबलपुर में पारा 7 डिग्री निरंतर बना हुआ है.

Also Read – MP की पहली Vande Bharat Express इंदौर-जबलपुर के बीच चलेगी, जानिए क्या हैं ट्रेन की खासियत

ग्वालियर, दतिया व नौगांव में हाल बेहाल

बीते 24 घंटों में यहां लगभग 6-7 डिग्री का परिवर्तन आया है. प्रदेश भर में सबसे ठंडा दतिया रहा और यहां पारा 2.1 डिग्री दर्ज किया गया. राजगढ़ में 2.3, ग्वालियर और नौगांव में 2.5 डिग्री, खजुराहो में 3.5 डिग्री, रायसेन में 4.2, उमरिया-गुना में 4.4, रीवा में 4.6, रतलाम में 5, उज्जैन, दमोह और सागर में 6 डिग्री तो सतना में 6.1 और पचमढ़ी में 6.2 डिग्री न्यूनतम टेंपरेचर दर्ज किया.

कैसे रहेंगे अगले 24 घंटे

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 24 घंटों में मौसम शुष्क बना रहेगा. विभाग ने यलो अलर्ट भी जारी किया है. चंबल संभाग, छतरपुर, ग्वालियर, और दतिया जिलों में कहीं-कहीं मध्यम कोहरा रहेगा. उमरिया, रतलाम, रायसेन, राजगढ़, सागर, टीकमगढ़, निवाड़ी, ग्वालियर और दतिया जिलों में कहीं-कहीं शीतलहर चलेगी. चंबल संभाग, उमरिया, छतरपुर, राजगढ़ और ग्वालियर में पाला पड़ने की संभावना जताई गई है.