इंदौर। भारतीय जनता पार्टी के नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे ने बताया कि आज जावरा कंपाउंड स्थित भाजपा कार्यालय पर अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य ने प्रेस वार्ता को संबोधित किया।

इस अवसर पर लालसिंह आर्य ने कहा कि अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा 17 सितंबर मा.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिवस से 26 नवंबर तक बस्ती संपर्क अभियान चलाया जा रहा है 75 हजार बस्तियों में संपर्क करने का हमारा लक्ष था हम 95 हजार बस्तियों तक संपर्क कर चुके हैं । अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा 26 नवंबर संविधान दिवस से 6 दिसंबर बाबासाहेब अंबेडकर के निर्वाण दिवस तक संविधान गौरव अभियान चलाया जाएगा जिसके अंतर्गत 29 वह 30 नवंबर को देशभर के छात्रावासों में संपर्क अभियान चलाया जाएगा एवं 3 व 4 दिसंबर को अनुसूचित जाति के प्रभावशाली लोगों के बीच अनुसूचित जाति मोर्चा के कार्यकर्ता संपर्क करेंगे साथ ही 26 नवंबर से 6 दिसंबर के बीच संविधान विषय पर विभिन्न संगोष्ठी या एवं समाज जनों के बीच चर्चा के कार्यक्रम रखे जाएं

आर्य ने आगे कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी भारत जोड़ो यात्रा के अंतर्गत महू स्थित बाबासाहेब आंबेडकर के राष्ट्रीय स्मारक पर जाने वाले हैं जिस कांग्रेस ने बाबासाहेब आंबेडकर का सार्वजनिक अपमान किया उनके सार्वजनिक जीवन को समाप्त करने का कार्य किया उस कांग्रेस को बाबा साहेब के स्मारक पर जाने का कोई अधिकार नहीं है।

लाल सिंह आर्य ने राहुल गांधी के महू जाने को लेकर सवाल खड़े करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में 45 वर्ष कांग्रेस की सरकार रही लेकिन महू में डॉ. भीमराव अंबेडकर जी राष्ट्रीय स्मारक क्यों नहीं बनाया गया था ।यहां स्मारक शिवराज सिंह चौहान ने बनवाया और भाजपा की केंद्र सरकार ने रेलवे स्टेशन का नाम डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम पर रखा। 1952 के लोकसभा चुनाव में डॉक्टर अंबेडकर को उत्तर मुंबई से हराने का पाप क्यों किया और 1954 में भंडारा लोकसभा के उपचुनाव में हराया जिस कारण उनका सार्वजनिक जीवन समाप्त करने का प्रयास क्यों किया। मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकारों में डॉक्टर अंबेडकर जी के नाम से एक भी विश्वविद्यालय क्यों नहीं बनाया। एक देश एक संविधान के विरोध में जाकर कांग्रेस के नेहरू सरकार ने धारा 370 लगाकर संविधान का अपमान क्यों किया जिसके कारण अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को अधिकारों से वंचित रहना पड़ा। कांग्रेस की देश के अधिकांश प्रदेशों में सरकार रही लेकिन उन्होंने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के जीवन से जुड़े एक भी स्थान पर राष्ट्रीय स्मारक क्यों नहीं बनाएं। कांग्रेस की केंद्र सरकार के रहते डॉक्टर अंबेडकर को भारत रत्न का सम्मान क्यों नहीं दिया गया जबकि उन्होंने गरीबों वंचितों के सम्मान में समानता के लिए सकारात्मक संघर्ष किया था। संसद के सेंट्रल हॉल में डॉक्टर अंबेडकर का तेल चित्र क्यों नहीं लगाया गया 1975 में देश भर पर कोई आंतरिक व बाहरी संकट नहीं था फिर भी देश में आपातकाल लगाकर संविधान की हत्या कांग्रेस सरकार ने क्यों की थी। कांग्रेस सरकारों में एक भी योजना का नाम अंबेडकर जी के नाम से क्यों नहीं बनाई गई थी।

इस अवसर पर अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालसिंह आर्य भारतीय जनता पार्टी के नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी दीपक जैन, अनुसूचित जाति मोर्चा प्रदेश महामंत्री भगवान परमार, अनुसूचित जाति राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रताप करोसिया, अनुसूचित जाति मोर्चा नगर प्रभारी संदीप दुबे, अनुसूचित जाति मोर्चा के नगर महामंत्री राजू सुनहरे एवं नवल देव उपस्थित रहे।