सागर। मध्यप्रदेश के सागर (Sagar) के बहुचर्चित जगदीश यादव हत्याकांड (Jagdish Yadav murder case) के आरोपी भाजपा से निष्कासित नेता मिश्री चंद गुप्ता (Mishri Chand Gupta) के 4 मंजिला आलीशान होटल को ब्लास्टिंग कर ढहा दिया गया है। 4 मंजिला इस होटल में ब्लास्ट के लिए 60 डाइनामाइट लागए गए थे। होटल ढहाने के लिए प्रशासन की टीम साढ़े 13 घंटे से प्लानिंग कर रही थी, जिसे मंगलवार रात करीब 7:30 बजे अंजाम दिया गया।

जानकारी के मुताबिक 23 दिसंबर को भाजपा नेता मिश्री चंद (BJP leader Mishri Chand) के भाई और भतीजे ने मिलकर थार से कुचलकर एक युवक जगदीश यादव की चुनावी रंजिश के चलते हत्या कर दी थी। मृतक युवक जगदीश यादव निर्दलीय पार्षद का भतीजा था। इसके बाद बीजेपी ने आरोपी को पार्टी से निकाल दिया। इसी मामले में पूर्व भाजपा नेता मिश्रीचंद गुप्ता भी आरोपी हैं। पुलिस में अबतक 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

Also Read – UIDAI ने जारी क‍िया आधार से जुड़ा नया न‍ियम, अब ब‍िना डॉक्‍यूमेंट बदल सकेंगे पता! बस करना होगा यह काम

बताया जा रहा है कि इस बिल्डिंग को ध्वस्त करने के लिए इंदौर से सरवटे विस्फोटक वालों की टीम को बुलाया गया था। आरोपी मिश्रीचंद गुप्ता और उसके परिवार की होटल जयराम पैलेस (Hotel Jairam Palace) मकरोनिया चौराहे के पास स्थित है। चार मंजिला होटल (four story hotel) का निर्माण अवैध बताया गया। इमारत को ध्वस्त करने के लिए करीब 80 किलो बारूद और 85 जिलेटिन रॉड्स का इस्तेमाल किया गया। इस होटल को गिराने के लिए दो बार ब्लास्टिंग (blasting) करनी पड़ी।

बताया जाता है कि कार्रवाई के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। इसके अलावा मौके पर कलेक्टर दीपक आर्य और एसपी तरुण नायक भी मौजूद थे। सुरक्षा की दृष्टि से बैरिकेड लगाकर ट्रैफिक को रोक दिया गया। होटल के आसपास रहने वाले लोगों का घर खाली करवाया गया। इस दौरान पुलिस बल भी तैनात रहा।

बता दे कि मिश्रीचंद गुप्ता समेत 3 आरोपी अभी भी फरार हैं। हत्याकांड (carnage) के बाद से ही इस होटल को गिराने की मांग की जा रही थी। घटना के करीब 12 दिन बाद इस होटल को नेस्तनाबूद कर दिया गया। घटना सागर के मकरोनिया (Macaroni of the Sea) की है। 22 दिसंबर की रात मकरोनिया चौराहे जगदीश यादव उर्फ जग्गू की जीप से कुचलकर हत्या कर दी गई थी।