ममता बनर्जी का गंभीर आरोप, कहा- TMC नेताओं को धमकी दे रहीं केंद्रीय एजेंसियां

0
38

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने केन्द्रीय एजेंसियों पर तृणमूल कांग्रेस के नेताओं और निर्वाचित प्रतिनिधियों को धमकी देने का आरोप लगाया है। ममता बनर्जी का कहना है कि टीएमसी नेताओं को धमकी दी जा रही है कि यदि वे बीजेपी से नहीं जुड़ते हैं तो उन्हे चिटफंड घोटाला मामलों में जेल भेज दिया जाएगा।

टीएमसी प्रमुख ने कोलकाता में शहीद दिवस रैली को संबोधित करते हुए पार्टी द्वारा 26 जुलाई को राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करने की बात कही है। उन्होने कहा, उनकी पार्टी बीजेपी द्वारा जुटाए गए काले धन को वापस करने की मांग भी करेगी।

ममता बनर्जी ने अपनीराजनीतिक रैली में कहा, ‘केंद्रीय एजेंसियां चिटफंड घोटाले से संबंधित मामलों को लेकर हमारे नेताओं और निर्वाचित प्रतिनिधियों को धमकी दे रही हैं और उनसे भाजपा के संपर्क में रहने या फिर जेल का सामना करने को कह रही हैं।’

‘दो करोड़ रुपये और पेट्रोल पंप का लालच दे रही बीजेपी’

स्ीएम ममता का आरोप है कि बीजेपी टीएमसी विधायकों को धन और अन्य प्रलोभन दे रही है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘भाजपा पाला बदलने की स्थिति में हमारे विधायकों को दो करोड़ रुपये और एक पेट्रोल पंप देने की पेशकश कर रही है… कर्नाटक की तरह, भाजपा हर जगह खरीद-फरोख्त में शामिल है। वह यहां भी इस मॉडल को लागू करने की कोशिश कर रही है।’

‘दो साल से ज्यादा नहीं चल पाएगी केंद्र सरकार’

बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जिस तरह से कार्य किया जा रहा है ऐसे में उन्हे नहीं लगता है कि केन्द्र सरकार दो साल से अधिक समय तक टिक पाएगी। टीएमसी प्रमुख ने कहा, ‘वे (भाजपा) विधेयक ला रहे हैं और इन्हें पूर्व सूचना या विमर्श के बिना पारित कर रहे हैं… संसद के अच्छी तरह से चलने का श्रेय विपक्षी दलों को जाता है, न कि सत्तारूढ़ दलों को।’

बता दे कि हर साल 21 जुलाइ्र को टीएमसी पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चे के शासन के दौरान 1993 में पुलिस की गोलीबारी में मारे गए युवा कांग्रेस के उन 13 कार्यकर्ताओं की याद में ‘शहीद दिवस’ मनाती है। उस दौरान ममता बनर्जी युवा कांग्रेस की नेता थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here