डांट पड़ी तो फिर स्कूल ही नहीं गई लता दीदी

Lata Mangeshkar : अन्य बच्चों की तरह लता दीदी भी पढ़ने के लिए स्कूल गई थी लेकिन एक घटना के बाद उन्होंने फिर स्कूल जाना ही छोड़ दिया था।

d6020b66-99f3-40fa-9cc0-fdaad5666f83

Lata Mangeshkar : अन्य बच्चों की तरह लता दीदी भी पढ़ने के लिए स्कूल गई थी लेकिन एक घटना के बाद उन्होंने फिर स्कूल जाना ही छोड़ दिया था। यह घटना उस वक्त हुई थी जब वे अपने साथ पढ़ने वाले बच्चों को गाना सुना रही थी। गाना सुनाते समय उनकी हेड मास्टर आ गई और उन्होंने लता को गाना सुनाने के लिए बुरी तरह से डांटा, बस फिर क्या था लता दीदी ने कभी स्कूल न आने की ही कसम खा ली। स्कूल नहीं जाने का निर्णय लेने के बाद लता ने अपना पूरा ध्यान संगीत और गायकी पर केन्द्रित कर लिया था।

09e01886-38a2-46b4-8bed-588a983a75ab

 

लता के ये पांच गाने..
लता ने यूं तो कई गानों को अपनी आवाज देकर प्रसिद्ध बनाया था लेकिन पांच ऐसे गाने भी उनके ऐसे है जिसमें लता की आवाज ने जान डाल दी थी। ये गाने आज भी सदाबहार है और इन्हें सुनते ही कदम थम जाते है। जिन गानों की बात यहां हो रही है उनमें ये कहां आ गए हम, फिल्म सिलसिला, लग जा गले…फिल्म वो कौन थी,दिल अपना प्रीत पराई फिल्म का अजीब दास्तां है ये, आंधी फिल्म का तेरे बिना जिंदगी से कोई और यारा सीली-सीली…फिल्म रूदाली का। ये ऐसे गाने है जिसे सुनकर लता की याद हमेशा ताजा बनी रहेगी।

Also Read – जब Lata Mangeshkar का पहला गाना फिल्म से हटा दिया था

3fdf101a-ef56-4453-b880-63f464b0b6c2

डॉक्टरेट की डिग्री
यूं भले ही लता ने कभी पढ़ाई नहीं की हो लेकिन उन्हें विश्व के 6 विश्वविद्यालयों द्वारा मानद रूप से डॉक्टरेट की उपाधि दी है। उन्होंने तीस हजार से अधिक गाने गाए है।

Also Read – Lata Mangeshkar Passes Away: लता मंगेशकर के निधन से देशभर में मातम, केंद्र ने घोषित किया 2 दिन का राष्ट्रीय शोक