Homeस्पोर्ट्सलक्ष्य सेन विश्व के टॉप-20 में पहली बार: 19वें स्थान पर

लक्ष्य सेन विश्व के टॉप-20 में पहली बार: 19वें स्थान पर

भारत के लक्ष्य सेन ने पहली बार टाप-20 में जगह बनाई है, विश्व बैडमिंटन महासंघ द्वारा 9नवम्बर को जारी विश्व रैंकिंग में लक्ष्य सेन ने दो स्थान का सुधार किया,हयलो खुली सुपर 500 स्पर्धा में सेमीफाइनल खेलने से प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन एकेडमी के लक्ष्य की 21वीं से 19वीं विश्व रैंकिंग हो गई है

भारत के लक्ष्य सेन (Lakshya Sen) ने पहली बार टाप-20 में जगह बनाई है, विश्व बैडमिंटन महासंघ द्वारा 9 नवम्बर को जारी विश्व रैंकिंग में लक्ष्य सेन ने दो स्थान का सुधार किया, हयलो खुली सुपर 500 स्पर्धा में सेमीफाइनल खेलने से प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन एकेडमी के लक्ष्य की 21वीं से 19वीं विश्व रैंकिंग हो गई है, किदांबी श्रीकांत 15वें, बी.साईंप्रणीत 16वें और समीर वर्मा 22वें स्थान पर कायम हैं, महिलाओं में पीवी सिंधु 7वें एवं पुरुष युगल में सात्विक साईंराज रैंकीरेड्डीऔर चिराग शेट्टी 12वें स्थान पर बरकरार हैं, विश्व विजेता और दो ओलंपिक पदक हासिल करने वाली पी.वी.सिंधु को 8नवम्बर को नईदिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने पद्म विभूषण से अलंकृत किया है।

ये भी पढ़े – IND Vs NZ: टेस्ट मैच में रोहित शर्मा संभालेंगे कप्तानी, कोहली को मिलेगा आराम

साइना नेहवाल महिला एकल में एक स्थान और नीचे हो कर 21वें से 22वें स्थान पर हो गई, अश्विनी पोनप्पा और सिकी रेड्डी ने महिला युगल में एक स्थान सुधार कर 28वें से 27वां स्थान पाया, सात्विक साईंराज रैंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा मिश्रित युगल में 23वें स्थान पर है, पुरुष एकल में एच.एस.प्रणोय 33वें, पारुपल्ली कश्यप 34वें, सौरभ वर्मा 36वें, सुभांकर डे 57वें और अजय जयराम 60वें स्थान पर हैं, प्रमोद, कश्यप और सुभांकर एक-एक स्थान नीचे खसके हैं, मैराबा लुवांग मैस्नाम ने 33स्थान का सुधार कर 202वीं और सतीश कुमार करुणाकरन ने 116स्थान का सुधार कर 302वीं रैंकिंग हासिल की हैं।

अदिति की 931 रैंकिंग सुधरी
महिला एकल में तान्या हेमनाथ 23स्थान सुधार कर 193वें, आध्या वरियथ 19स्थान सुधार कर 219वें और लिखिता श्रीवास्तव 105स्थान सुधार कर 463वें स्थान पर आई, हंगेरियन अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा उपविजेता होकर अदिति भट्ट ने तो 931स्थान का सुधार किया है। अदिति की 1,436से 505वीं विश्व रैंकिंग हो गई है। उत्कर्ष अरोरा और अक्षान शेट्टी ने भी पुरुष युगल में 831स्थान का, सुधार कर 586वां स्थान पाया, मनु अत्री और बी.सुमीथ रेड्डी 40वें एवं एम.आर.अर्जुन और ध्रुव कपिला 42वें स्थान पर हैं।

24वर्षीय लोह कैन येव सिंगापुर के पहले पुरुष खिलाड़ी हैं, जिसने सुपर500 बैडमिंटन खिताब जीता। जर्मनी के सारब्रुकेन में हयलो खुली स्पर्धा के फाइनल में विश्व नंबर 39लोह ने आल इंग्लैंड विजेता विश्व नंबर 8 मलेशिया के ली जी जिआ पर 19-21,21-13,17-12 (पीठ की तकलीफ से मैच छोड़ा)से जीत दर्ज की, इससे पहले 2010 में सिंगापुर की याओ लेई और सिंता मुलिआ सारी ने सिंगापुर खुली स्पर्धा में महिला युगल खिताब जीता था, लोह बड़ी सफलता पाने वाले दूसरे सिंगापुरियन है।

थाईलैंड की बुसनान एवं जापान की चिसातो होशीऔर अओई मत्सुदा (महिला युगल)ने भी पहली बार सुपर500 स्पर्धा जीती। विश्व नंबर 14बुसनान ने महिला एकल फाइनल में सिंगापुर की येओ जिआ मिन को 21-10,21-14से हराया, विश्व नंबर 26 येओ का भी यह पहला सुपर-500 फाइनल है, पुरुष युगल में विश्व नंबर एक इंडोनेशिया के मार्कुस फेरनाल्डी जिदेओन और केविन संजया सुकमुमुल्जो ने जनवरी 2020के बाद पहला खिताब जीता, तब उन्होंने इंडोनेशिया मास्टर्स स्पर्धा जीती थी।

* धर्मेश यशलहा
सरताज अकादमी
” स्मैश “

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular