Katni Tunnel Accident: 28 घंटे बाद बचे 2 मजदूरों का किया गया रेस्क्यू, नहीं बचाई जा सकी दोनों की जान

कटनी: शनिवार की शाम को मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के कटनी में एक बड़ा हादसा हो गया. जानकारी के अनुसार, यहां नर्मदा घाटी परियोजना की टनल की मिट्टी धंस गई.

कटनी: शनिवार की शाम को मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के कटनी में एक बड़ा हादसा हो गया. जानकारी के अनुसार, यहां नर्मदा घाटी परियोजना की टनल की मिट्टी धंस गई. जिसके चलते सुपरवाइजर समेत 9 मजदूर मिट्टी के नीचे दब गए. राहत बचाव कार्य की टीम ने सात मजदूरों का रेस्क्यू कर उन्हें बचा लिया गया है. वहीं, भोपाल से इस मामले की गृह विभाग लाइव मॉनिटरिंग कर रहा है.

मोतीलाल कोल और नंद लाल यादव आख़िरी 2 मज़दूरो के नाम जो सुबह सुरक्षित निकाले गए हैं। कल रात और आज सुबह निकाले चारों मज़दूर ख़तरे से बाहर हैं तथा अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। इस प्रकार अब तक कुल 9 मज़दूरों में से 7 को सकुशल बचाया जा चुका है। बचे 2 मज़दूर ग़ोरेलाल कोल और रवि (सूपरवाइज़र) को बाहर निकाल लिया गया है। दोनो को 28 घंटे चले रिस्कयु आपरेशन के बाद भी बचाया नहीं जा सका।

यह भी पढ़े –  Indore News : अरे ओ भिया, यातायात नियम तोड़ने में कैसा गौरव और कैसी शान

वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी इस घटना की लगातार जानकारी कलेक्टर के द्वारा ले रहे हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, बरगी के दायें तट पर नहर के लिए बनाई जा रही अंडरग्राउंड टनल के निर्माण के दौरान हुआ. शनिवार की शाम करीब 7:30 बजे यह घटना हुई है. टनल की मिट्टी धंस जाने से 9 मजदूर इसके नीचे दब गए. फ़िलहाल रेस्क्यू का कार्य अभी भी जारी है.

यह भी पढ़े – उद्योगपति राहुल बजाज हारे कैंसर से जंग, 83 साल की उम्र में हुआ निधन

कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने हादसे की जानकारी देते हुए बताया कि, “एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस लगाई गई है. घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाने के लिए जबलपुर मेडिकल अस्पताल और कटनी जिला अस्पताल तक के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है, ताकि मजदूरों को निकालकर जल्द ही अस्पताल पहुंचाया जा सके. 8 लोग सिंगरौली के रहने वाले हैं.”