झारखंड में स्थित जैन समाज के पवित्र स्थल को सरकार ने पर्यटल स्थल की सूची में जोड़ने की घोषणा की थी। इसके बाद भारी संख्या में जैन समुदाय ने आक्रोश व्याप्त किया था। जगह-जगह बैनर पोस्टर के माध्यम से विशाल जुलूस निकाला। इसके बाद जैन समाज के महाराज ने स्वंय पारस चैनल पर राहत की बात कही है।

उन्होंने बताया कि, पवित्र जैन तीर्थ सम्मेद शिखर को पर्यटन की सूची से बाहर कर दिया गया है। इसका श्रेय उन्होंने खुद नही लिया बल्कि विश्व जैन संगठन को दिया है। इस जीत के लिए परम पूज्य आचार्य भगवन श्री विद्यासागर जी महाराज ने जैन समुदाय को बधाई दी।

Also Read : बच्चों को पोलियों के दो डोज की जगह अब लगायी जायेगी तीन डोज, नये साल से शुरू किया जायेगा टीकाकरण

गौरतलब है कि, जैन समुदाय के लोगो का कहना है की सम्मेद शिखर सदियों से जैन समुदाय का पवित्र तीर्थ स्थल है,,जिसमे पूरे विश्व के जैन दर्शनार्थी सम्मेद शिखर जाते है जो आस्था जैन समुदाय का सबसे बड़ा आस्था का केंद्र है ऐसे में सरकार के द्वारा अध्यादेश लेकर सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल घोषित करना पुरे जैन समुदाय की आस्था के साथ खिलवाड़ करने जैसा है इसलिए इसलिए जैन समाज के द्वारा एक मोहन जुलूस निकाला गया है।

जिसमें बड़ी संख्या में जैन समाज के नागरिक मौजूद रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक ज्ञापन दिया गया है और अगर जल्द ही सम्मेद शिखर जी को पर्यटन स्थल की सूची से हटाया नहीं गया तो जैन समाज के द्वारा पूरे देश में उग्र आंदोलन किया जाएगा।