पटना : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा में वैसे ही पार्टी नेताओं के दल बदलने का सिलसिला वैसे ही अभी जारी है इसी बीच बिहार में भाजपा की सहयोगी जदयू भी अब यूपी में सीट बंटवारे के लिए भाजपा पर दवाब बनने की शुरूआत कर दी है।

जानकारी यह मिली है कि यूपी में मचे घमासान के बाद भाजपा जदयू से सीट बंटवारे के मामले को गंभीरता से ले रही है और एकाध दिन में ही इस मामले में बैठक होने की जानकारी मिली है। जदयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने यह भी स्पष्ट किया है कि यदि भाजपा सीटों का बंटवारा नहीं करती है तो जदयू अकेली ही चुनाव लड़ेगी।

संभावना जताई जा रही है कि सीटों को लेकर एक-दो दिनों में भाजपा नेतृत्व की जदयू के साथ बैठक होगी। यूपी में भाजपा से विधायकों के लगातार हो रहे इस्तीफे के बाद जदयू  ने दबाव बनाना भी शुरू कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक, जदयू बिहार की सीमा से सटे सहित पूर्वांचल की कुछ सीटों पर लडने की इच्छा व्यक्त करते हुए चुनिंदा सीटों की एक सूची भाजपा को सौंपी है।

सूत्र यह भी बताते हैं कि अगर जदयू को सम्मानजनक सीटें नहीं मिलती हैं तो जदयू फिर अकेले भी चुनाव मैदान में उतर सकती है। जदयू की यूपी में बहुत पकड़ नहीं है, इस कारण भाजपा बहुत ज्यादा सीटें दे, इसकी संभावना नहीं के बराबर है।