जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर से एक मामला सामने आ रहा है। दरअसल, यहां शराब के नशे में धुत पुलिस जवान ने सोमवार शाम विक्टोरिया अस्पताल में जमकर हंगामा किया। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मचारियों व साथी जवानों से उसने अभद्रता की तथा अपशब्द भी कहे। उसके एक हाथ की अंगुली में रक्तस्त्राव हो रहा था। रक्तस्त्राव रोकने के लिए टांके लगाने में कर्मचारियों को मशक्कत करनी पड़ी जिसके बाद मुश्किल से उसे टांके लग सके। जिसके बाद वह आकस्मिक चिकित्सा कक्ष से बाहर जाने के लिए तैयार नहीं था।

ALSO READ: PM Modi को काला झंडा दिखाने वाली कांग्रेस नेत्री को मारी गोली

दरअसल, उसी समय प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव विक्टोरिया के दौरे पर पहुंचने वाले थे। पुलिस जवानों ने उसे बलपूर्वक शासकीय वाहन में बैठाया और वहां से लेकर चले गए। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस लाइन में तैनात प्रधान आरक्षक देवी सिंह सोमवार को ड्यूटी पर था। ड्यूटी के दौरान उसके हाथ की एक अंगुली में चोट लग गई। जिससे अंगुली से खून बहने लगा जिससे वर्दी में जगह-जगह खून के धब्बे लग गए। वहीं अधिकारियों को घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने उपचार के लिए उसे पुलिस अस्पताल भेजा। पुलिस अस्पताल में मलहम पट्टी की गई परंतु खून बंद नहीं हुआ। जिसके बाद उसे विक्टोरिया अस्पताल रेफर किया गया।

वहीं पुलिस लाइन के जवानों शासकीय वाहन से उसे विक्टोरिया अस्पताल पहुंचाया। जहां नशे की हालत में देवी सिंह हंगामा करने लगा। हालांकि इस दौरान पुलिस जवानों व स्वास्थ्य कर्मचारियों ने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन देवी सिंह उनके साथ गालीगलौज करने लगे। रक्षित निरीक्षक सौरभ तिवारी ने बताया कि देवी सिंह के खिलाफ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।