त्रिपुरा में धर्मसंकट में फंसी बीजेपी, सहयोगी दल ने रखी मांग

अगरतला : त्रिपुरा में सीपीएम को सत्ता से बेदखल कर बीजेपी ने नया इतिहास रच दिया है. त्रिपुरा में मिली अप्रत्याशित जीत के जश्न में डूबी बीजेपी के सामने एक धर्मसंकट खड़ा हो गया है. दरअसल त्रिपुरा में उसके गठबंधन में साथी IPFT ने राज्य में आदिवासी मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर दी है. बता दे कि बीजेपी की और से बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बि‍प्लब देब को मुख्यमंत्री बनाए जाने की ख़बरें सामने आ रही है.Related imageबता दे कि इंडिजिनस पीपल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT) की इस मांग से बीजेपी के सामने नई परेशानी खड़ी हो गई है. IPFT के अध्यक्ष एन.सी. देबबर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आदिवासी सीएम बनाने की मांग कर दी. उनके इस बैठक के बारे में बीजेपी नेताओं को कोई जानकारी नहीं थी.Related imageदेबबर्मा ने कहा कि त्रिपुरा में आदिवासी वोटों के बिना बीजेपी और आईपीएफटी गठबंधन को भारी बहुमत नहीं मिलता. ऐसे में आदिवासी वोटों की भावना को ध्यान में रखते हुए एसटी क्षेत्र के ही किसी विधायक को मुख्यमंत्री बनाया जाएं.

उधर IPFT के रुख को देखते हुए सीपीएम और कांग्रेस नेताओं ने तंज कसते हुए कहा कि, उन्हें इस बात पर कोई आश्चर्य नहीं है. जब आप अलगाववादी समूह के साथ तात्कालिक चुनावी फायदों के लिए गठबंधन बनाएंगे तो ऐसा ही होगा.