मध्यप्रदेश के बैतूल से एक दुखद घटना सामने आई है। एक 17 वर्षीय इंटरनेशनल बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रार्थान साल्वे ने डैम में कूदकर आत्महत्या कर ली है। डैम में कूदने से पहले परिवार को वॉइस मैसेज भेजा था। मिली जानकारी के मुताबिक, हाल ही में उसके भाई की मौत भी हुई थी, जिसका सदमा नहीं झेल सकी और प्रार्थना ने खुदकुशी कर ली।

पुलिस कर रही है तहकीकात

बैतूल के कालापाठा क्षेत्र निवासी प्रार्थान ने गुरूवार को कोसमी डैम में कूदकर आत्महत्या कर ली है। इसकी जानकारी पुलिस को मिलते ही घटना स्थल पर पहुंची। लड़की के शव का पोस्टमार्टम करके परिजनों को बॉडी सौंप दी है। इसके बाद पुलिस जानकारी जुटाने में लग गई है कि आखिर लड़की ने क्यों आत्महत्या की है।

क्या भेजा था वॉइस मैसेज में

हाल ही के दिनों में मृतका के भाई की मौत हो गई थी। बीते कई दिनों से मानसिक रूप से परेशानी से झुज रही थी। गुरूवार को आत्महत्या करने से पहले इंटरनेशनल खिलाड़ी प्रार्थान ने परिजनों को वॉइस मैसेज भेजा, जिसमें अपने भाई की मौत का कारण बताया। उसने बताया कि भाई की मौत से वह बहुत परेशान थी। परिवार वालों को प्रार्थाना का मैसेज मिलते ही उनके पैरों तले जमीन खिसक गई और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। डैम के किनारे प्रार्थना की स्कूटी खड़ी थी।

आखिर क्यों हुई थी भाई की मौत

गौरतलब है कि, इंदौर की स्वर्ण बाग कॉलोनी की एक मल्टी में 7 महीने पहले एक सनकी आशिक ने आग लगा दी थी। इसमें प्रार्थना के भाई देवेंद्र साल्वे की मौत जलकर हो गई थी। भाई की मौत के बाद प्रार्थना सदमे में आ गई और गुमसुम रहने लगी। बहन का सिलेक्शन नेशनल जूनियर बास्केटबॉल टीम में हुआ था। भाई प्रार्थना को बैतूल से दिल्ली लेकर गया था और दिल्ली से लौटकर इंदौर में स्वर्ण बाग कॉलोनी में रहने वाले अपने दोस्त गौरव से मिलने गया और वहीं रुक गया था। इसी रात में हादसे का शिकार हो गया। प्रार्थना भाई की मौत के सदमे से निकल नहीं पा रही थी।

इसके अलावा प्रार्थना के साथ दूसरी घटना भी हुई थी। एक टूर्नामेंट के दौरान लिगामेंट टूटने से भी प्रार्थना काफी परेशान थी और उसे अपना भविष्य अंधकार में दिख रहा था। प्रार्थना ने एशियन यूथ चैम्पियनशिप टूर्नामेंट में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और यह मैच भी इंडिया टीम जीती थी।