इंदौर: काम में लापरवाही खनिज अधिकारी को पड़ी भारी, कलेक्टर सिंह ने जारी किया निलंबन आदेश

काम में लापरवाही करने पर कलेक्टर मनीष सिंह ने खनिज अधिकारी को निलंबन आदेश जारी कर दिया है.

Indore: इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह हमेशा ही सभी कार्यों को अच्छे तरीके से पूरा करने पर विश्वास रखते हैं. समय-समय पर वो अधिकारियों और कर्मचारियों को अपनी जिम्मेदारी सतर्कता पूर्वक निभाने के लिए बोलते भी हैं. अपनी जिम्मेदारी ना निभाने वालों पर उन्हें कई बार कार्रवाई करते हुए भी देखा जाता है. इसी कड़ी में टीएल बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह ने तीन अधिकारियों और कर्मचारियों पर निलंबन प्रस्ताव वेतन वृद्धि और कारण बताओ नोटिस जारी करने की कार्रवाई की है. बैठक के दौरान सीएम हेल्पलाइन में लंबित चल रहे प्रकरणों पर चर्चा की गई.

कलेक्टर सिंह ने सभी विभागीय अधिकारियों को लंबित प्रकरणों पर समय सीमा के अंदर संतुष्टि पूर्वक निराकरण करने के निर्देश दिए हैं. इस दौरान उन्होंने निराकरण की जा रही समस्याओं के डिस्पोजल की गुणवत्ता को सुधारने के लिए आदेश दिए.

बैठक के दौरान कलेक्टर मनीष सिंह ने एनएचएआई के अधिकारी को राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए जिन व्यक्तियों की भूमि अधिग्रहित की है. उन्हें जल्दी मुआवजा देने के लिए शिविर लगाने के निर्देश दिए हैं.

किस पर गिरी गाज

एसडीएम पवन जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि कलेक्टर मनीष सिंह ने बैठक में खनिज अधिकारी जुबान सिंह भिड़े की खराब कार्यशैली और पूर्व में दिए नोटिस के बाद भी सुधार नहीं आने की वजह से निलंबन प्रस्ताव प्रमुख सचिव खनिज को भेजने के निर्देश दिए हैं. वहीं एक कर्मचारी का वेतन रोकने और सामाजिक न्याय विभाग की संयुक्त संचालक सुचिता तिरकीबैक को कारण बताओ नोटिस थमा दिया है.