Indore : पुलिस के हत्थे चढ़ा शादी में चोरी करने वाला शख्स, पहले से ही दर्ज है कई मामले

पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायण चारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में चोरी, नकबजनी, लूट आदि संपत्ति संबंधी अपराधों पर अकुंश लगाने हेतु प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं।

इंदौर(Indore) : पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायण चारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में चोरी, नकबजनी, लूट आदि संपत्ति संबंधी अपराधों पर अकुंश लगाने हेतु प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त(अपराध) राजेश हिंगणकर द्वारा पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) गुरू प्रसाद पाराशर को चोरी की वारदातों के संबंध मे पतारसी एवं माल दस्तायावी हेतु निर्देशित किया गया था।

Read More : Maharishi Narada विश्व के पहले पत्रकार माने जाते है

जिसके तारतम्य में इन गतिविधियों में संलिप्त अपराधियो पर आवश्यक कार्यवाही हेतु क्राईम ब्रांच की टीमों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए थे। इसी तारतम्य में क्राइम ब्रांच टीम को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई की सांसी गैंग का एक चोर शहर में घूम रहा है। जिसपर क्राइम ब्रांच व थाना कनाडिया संयुक्त कार्यवाही कर आरोपी को पकड़ा व नाम/पता पूछते आरोपी ने करण सिसोदिया पिता मुकेश सांसी निवासी ग्राम कड़िया सांसी थाना बोडा क्षेत्र जिला राजगढ़(म. प्र.) बताया गया।

Read More : Indore कलेक्टर ने की पत्रकार महेंद्र पाठक की मदद, पत्नी के इलाज के लिए दिए इतने रुपए

आरोपी कारण से विस्तृत पूछताछ करते आरोपी ने बताया कि वह और उसकी सांसी गैंग द्वारा शादी समारोह में लोगो के बीच घुल मिलकर चोरी की घटना को अंजाम देते है। इसी तरह आरोपी ने दिनांक 13/02/2022 को थाना चंदन नगर के दस्तूर गार्डन में चल रहे शादी समारोह में स्टेज पर वधू के पास रखे 2 लाख रुपए नगदी चुराना कबुल किया जिसपर थाना चंदन नगर में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध अपराध धारा 379 का अपराध पंजीबद्ध है।

इसी तरह थाना कनाडिया क्षेत्र के बायपास रोड स्थित होटल प्राइड के बैंक्विट हाल में चल रही शादी समारोह में फरियादी का पर्स जिसमे 2 लाख नगद,विवाह में आए परिजनों के पैसों के लिफाफे एवं सोने के आभूषण चोरी करना भी कबूल किया जिसपर थाना कनाडिया में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध अपराध धारा 380 का अपराध पंजीबद्ध है। आरोपी को वर्ष 2010 में दिल्ली क्राइम ब्रांच द्वारा एवं 2015 में आरोपी अहमदाबाद क्राइम ब्रांच द्वारा गिरफ्तार करना भी स्वीकार किया। आरोपी के विरुद्ध अग्रिम वैधानिक कार्यवाही थाना कनाडिया के द्वारा की जा रही है।