इंदौर। प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (Pravasi Bhartiya Sammelan and Global Investors Summit) की तैयारियों के साथ न्योते भी लगातार भेजे जा रहे हैं। छोटे-बड़े लगभग 4 हजार औद्योगिक समूहों को समिट में आने का न्योता दिया गया है। लगातार मुख्यमंत्री भी ऑनलाइन वर्चुअली मीटिंग के साथ बड़े निवेशकों से खुद भी चर्चा कर रहे हैं। दूसरी तरफ इंदौर (Indore) पुलिस ने भी इन दोनों बड़े आयोजनों की तैयारी शुरू कर दी है।

शहर में लगे लगभग एक लाख निजी कैमरों को भी सिटीजन आई से जोड़ा गया है, ताकि बेहतर सुरक्षा व्यवस्था रहे। इसमें निजता का उल्लंघन भी नहीं होने दिया जाएगा। वहीं आयोजन स्थल पर काउंटर टेरेरिस्ट ग्रुप ने मॉकड्रील भी की। इसके अलावा शहर के महत्वपूर्ण स्थानों की भी अब लगातार निरीक्षण, जांच और आपातकालीन स्थिति में क्या तैयारी है इसका जायजा लिया जाएगा।

जनवरी में दोनों बड़े आयोजनों के बाद जी20 समिट की बैठकें भी इंदौर में आयोजित की जाना है। इसके चलते पुलिस आयुक्त हरीनारायणचारी मिश्र और अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अपराध व मुख्यालय राजेश हिंगणकर ने महत्वपूर्ण स्थानों की सुरक्षा व्यवस्था की जांच-पड़ताल और आपातकालीन क्या तैयारी है उसकी शुरुआत करवाई और काउंटर टेरेरिस्ट ग्रुप भोपाल, एटीएस और बीडीडीएस इंदौर ने ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में मॉकड्रील करते हुए सुरक्षा प्रबंधों की जानकारी ली।

वहीं सिटीजन कॉप जैसा उपयोगी मोबाइल एप बनाने वाले सॉफ्टवेयर एक्सपर्ट राकेश जैन की मदद से एक नई सिटीजन आई नामक एक नई तकनीकी सुविधा भी शुरू की है, जिसकी मदद से शहरभर में लगे एक लाख निजी कैमरों को भी इस योजना से जोड़ा जा रहा है। जनभागीदारी से किए जाने वाले इस अनूठे प्रयास से जहां करोड़ों रुपए के राजस्व की बचत भी पुलिस ने की, वहीं जगह-जगह लगे निजी कैमरों की मदद से शहर की सुरक्षा व्यवस्था को नागरिकों, खासकर महिलाओं के हित में बढ़ाया जा सकेगा। दूसरी तरफ नगर निगम भी दोनों आयोजनों की तैयारी में जुटा है।

Also Read : Indore : महालक्ष्मी नगर कॉलोनी एवं अयोध्यापुरी कॉलोनी की जांच के लिए बनाया गया दल

महापौर पुष्यमित्र भार्गव और आयुक्त प्रतिभा पाल ने ढक्कनवालाकुआं ग्रामीण हाट बाजार का भी अवलोकन किया, जहां पर व्यंजनों के स्टॉल, लोकल बाजार और लोक उत्पादनों के स्टॉल और प्रदर्शनी सम्मेलन के दौरान लगाई जा सकेगी। रंगाई-पुताई भी यहां शुरू करवाई गई।