इंदौर। महिलाओं एवं बच्चों के विरूद्ध होने वाले अपराधों की रोकथाम तथा लोगों में सामाजिक जनचेतना लाने के उद्देश्य से पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र एवं अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अप./मुख्या.) इंदौर राजेश हिंगणकर व अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (का./व्य.) इंदौर मनीष कपूरिया के दिशा निर्देशन में इंदौर पुलिस द्वारा महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों की रोकथाम व महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा हेतु प्रभावी कार्यवाही के साथ ही लोगों में इस संबंध में सामाजिक चेतना व जन जागरूकता की भावना लाने के लिये निरंतर रूप से प्रयास किए जा रहे हैं। साथ ही वर्तमान में भारत सरकार एवं पुलिस मुख्यालय भोपाल के निर्देशानुसार, महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों व भेदभाव एवं हिंसा उन्मूलन के संबंध में लोगों में जनजागृति लाने के उद्देश्य से नेशनल जेंडर कैंपेन नई चेतना अभियान भी चलाया जा रहा है।

इसी तारतम्य में पुलिस उपायुक्त (आसूचना/मुख्यालय) रजत सकलेचा एवं अति.पुलिस उपायुक्त (महिला सुरक्षा शाखा) श्री प्रमोद सोनकर व अति. पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) मनीषा पाठक सोनी के मार्गदर्शन में पुलिस टीमें विभिन्न स्कूल एवं कॉलेज एवं संस्थान और बस्तियों/ कालोनियों में लोगों के बीच पहुंचकर, उन्हें महिला एवं बच्चों के विरुद्ध होने वाले अपराधों एवं उनकी सुरक्षा व अधिकारों, साइबर अपराधों एवं नशा मुक्ति, सेल्फ डिफेंस आदि से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी देकर इनके प्रति जागरूक करने का प्रयास कर रहे है।

Also Read : MP Breaking: खुरई से चुनाव लड़ेंगे दिग्विजय सिंह! पूर्व मुख्यमंत्री ने मीडिया को दिया बड़ा बयान

इसी कड़ी में कल दिनांक 16.12.22 को अति. पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) मनीषा पाठक सोनी, सहायक पुलिस आयुक्त (महिला सुरक्षा शाखा) आशुतोष मिश्र के साथ निरीक्षक क्लेयर डामोर की टीम ने चमेली देवी ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट में पहुंचकर राष्ट्रीय जेंडर अभियान के तहत छात्र छात्राओं को महिला एवं बच्चों के विरुद्ध होने वाले अपराधों, उनके साथ होने वाले शोषण एवं भेदभाव और इनके उन्मूलन आदि के संबंध में के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई एवं मानवदुर्व्यपार के बारे में भी जागरूक किया साथ ही उन्हें पुलिस की विभिन्न हेल्पलाइन नंबर ऑफ एवं शासन की योजनाओं से भी अवगत कराया गया। विद्यार्थियों को स्वयं की सुरक्षा हेतु सेल्फ डिफेंस एक्सपर्ट विक्रम देवड़ा और उनकी टीम की हिमांशी जाट एवं पलक सरकले के द्वारा सभी को आत्मरक्षा के गुर भी बताये गये।