रात को Indore Police अपराध नहीं प्रदूषण की रोकथाम करती है, ये तंज नहीं असलियत है

0
115
Indore

लोकेश सोलंकी

शुक्रवार रात करीब 10.45 भमोरी चौराहे के पास बेरिकेड्स लगाकर एक asi और एक सिपाही जिसकी सीने पर रोहित यादव नाम दर्ज था। एक एक्टिवा सवार को रोकते हैं। सिपाही गाड़ी साइड मे लगाने का आदेश देकर कागज मांगता है। एक्टिवा सवार पहले लायसेंस दिखाता है फिर गाड़ी का रजिट्रेशन। सिपाही बीमा भी मांगता है लिहाजा शख्श डिक्की से ढूंढकर बीमें का कागज सिपाही को देकर संतुष्ट करने की कोशिश करता है। पहले सिपाही रजिस्ट्रेशन कार्ड से लेकर लायसेंस तक के नामों की पूछताछ करता है। फिर मांग उठती है की एक्टिवा का puc यानी प्रदूषण नियंत्रण का कार्ड दिखाया जाए।

एक्टिवा चालक हैरान होकर सफाई देता है कि दो साल पुरानी एक्टिवा से प्रदूषण तो नही फैलता। सिपाही कहता है जरूरी है। इस पर एक्टिवा सवार झुंझलाकर कह देता है कि क्यो परेशान कर रहे हो सर। सिपाही कहता है अच्छा बेटा, तीन सौ का जुर्माना लगेगा। अब एक्टिवा सवार बाजू मे खड़ी सिपाही की पल्सर गाड़ी की और इशारा कर कहता है कि ये आपकीं गाड़ी पर तो नम्बर भी अधूरा और बिना सीरीज के लिखा गया है।

Read More:- जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने सेना के जवान को किया अगवा

साधारण से युवक को बहस करता देख अब तक मौन खड़े बुजुर्ग से नज़र आ रहे asi के मुंह से उपदेशनुमा अंदाज मे गाली के साथ निकलता है कि ज्यादा नेतागिरी कर रहा है। युवक कहता है तीन सौ तो नही दूँगा कागज भी दिखा दिए है। पत्रकार हु सामने दफ्तर से निकला हु। सिपाही की गाड़ी के मोबाइल से फ़ोटो लेता देख सिपाही कागज लौटाते हुए कहता है यहाँ खड़े मत रहो जाम लगता है।

प्रदूषण रोकने की ड्यूटी मे लगे सिपाही इधर उधर होने लगते है। इस बीच एक शख्श एक ऑटो चालक की ठगने की शिकायत लेकर पुलिस वाले के करीब आता है। लेकिन प्रदूषण की रोकथाम मे लगे वर्दीधारी उसे गरियाते हुए डांट कर आगे जाने को कह देते है। क्योंकि उनकी ड्यूटी उस यात्री की शिकायत सुनने के लिए नही बल्कि रात की हवा से प्रदूषण कम करने के लिए लगाई गई होगी?

Read More:- अब कबूतर नहीं, विमान उड़ते है और मारकर आ जाते है: UP Deputy CM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here