Indore: मानव सेवा के लिए समर्पित किया अपना जीवन, दंपति ने दान किए लाखों रूपए

इंदौर। इंदौर के चिकित्सक जगत में एक नाम ऐसा भी है जो हमेशा मानव सेवा के लिए आगे रहते है। पीड़ित मानवता की सेवा ही सबसे बड़ा तीर्थ और पुण्य है। वहीं अपने जन्मदिन पर दीन-दुखियों को नई जिंदगी देने का संकल्प आज के इस युग में बहुत कम लोग ले पाते है। अपने लिए तो सभी जीते हैं, लेकिन सफलता और यश उन्हीं को मिलते हैं, जो दूसरों के लिए जीते हैं। शहर के समाजसेवी जयसिंह–टीना जैन ने आज राष्ट्रीय जैन श्वेताम्बर फाउंडेशन ट्रस्ट को 10 लाख रुपए की धनराशि का चेक पार्श्व आरोग्य धाम के लिए और 8 लाख रु. का चेक एम्बुलेंस वाहन खरीदने के लिए दिया है।

ALSO READ: Indore: पुलिस ने जुआरियों को रंगे हाथ पकड़ा, हजारों रुपए किए जप्त

इसके साथ ही उन्होंने उन लोगों के लिए एक मिसाल पेश की है जो अपने जन्मदिन को मौज-मस्ती, पिकनिक और दावतों के नाम पर खर्च कर देते हैं। इस सेवा प्रकल्प की जितनी प्रशंसा की जाए, कम ही होगी। सांसद शंकर लालवानी, राज्य की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, विधायक महेन्द्र हार्डिया ने आज सुबह मनोरमागंज स्थित शांति नगर के बी.एन. कालानी ट्रस्ट के सामुदायिक सभागृह में पार्श्व आरोग्य धाम का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने एक स्वर से उक्त बातें कही।

इस अवसर पर अतिथियों के साथ जयसिंह –टीना जैन ने पार्श्व आरोग्य धाम का दीप प्रज्ज्वलन कर शुभारंभ किया। साथ ही अपने संकल्पों को साकार करने के लिए फाउंडेशन ट्रस्ट को कुल 18 लाख रुपए की सहायता राशि भेंट की। कार्यक्रम में बी.एन. कालानी ट्रस्ट के अध्यक्ष लक्ष्मीलाल मुछाल, के.के. रूठिया, पवन बागड़िया एवं फाउंडेशन के ट्रस्टी पीयूष जैन, राजेश चौरड़िया, सुनील जैन, विक्रम श्रीमाल, मनीष सुराणा, संतोष कटारिया, dp.आदि ने अतिथियों का स्वागत किया।

कार्यक्रम की शुरुआत किरण सिरोलिया के मंगलाचरण से हुई और प्रारंभ में ट्रस्ट के महामंत्री जिनेश्वर जैन ने पार्श्व आरोग्य धाम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि यहां प्रतिदिन ओपीडी, एक्सरे, पेथॉलॉजी जांच, फिजियोथैरेपी एवं योग शिक्षा की गतिविधयां भी संचालित होंगी। यहां जरुरतमंद मरीजों की सभी प्रकार की जांचें बाजार से आधी से भी कम कीमतों पर करने की सुविधा मिलेगी।

फाउंडेशन ट्रस्ट के प्रकाश भटेवरा ने कहा कि समाजसेवी जयसिंह–टीना जैन दम्पति ने पिछले छह वर्षों में टीना जैन के जन्मदिन के अवसरों पर अब तक 650 से अधिक बच्चों की प्लास्टिक सर्जरी और 15 बच्चों की हार्ट सर्जरी भी कराई है। कोरोना के चलते इस बार उनके इस संकल्प की पूर्ति नहीं हुई तो राष्ट्रीय जैन श्वेताम्बर फाउंडेशन ट्रस्ट को 10 लाख रुपए का चेक ऐसे लोगों की मदद के लिए भेंट किया है, जो विभिन्न महंगी चिकित्सकीय जांचें नहीं करा सकते। इसके लिए आज से पार्श्व आरोग्य धाम का शुभारंभ भी किया गया।

उन्होंने आगे बताया कि, इसके अलावा 8 लाख रुपए की लागत से एक एम्बुलेंस खरीदने के लिए भी जैन दम्पति ने फाउंडेशन को चेक भेंट किया। उन्होंने कहा कि शहर में कोरोना काल में जरुरतमंद लोगों की सेवा-सहायता में भी जैन दम्पति मानव मसीहा के रूप में पहचाने गए हैं। आज उनके द्वारा दी गई सहायता से अनेक पीड़ित लोगों को नई जिंदगी मिल सकेगी। यह एक वंदनीय और अनुकरणीय उदाहरण है। पूर्व में भी उन्होंने कटे होठों के ऑपरेशन, घुटनों के ऑपरेशन, पलक मुछाल के साथ बच्चों के हार्ट के ऑपरेशन जैसे अनेक सेवा कार्य किए हैं। अंत में जैन दम्पति ने आभार माना।