इंदौर: क्राईम ब्रांच को मिली बड़ी सफलता, डकैती के प्रकरण का फरार चल रहा 5 हजार रुपये का ईनामी बदमाश गिरफ्तार

थाना राऊ क्षेत्र स्थित कृष्णा पेराडाईज कालोनी में आरोपी ने अपने साथियो के साथ मिलकर घर में घुसकर फरियादी के साथ मारपीट कर, सोने चांदी के जेवरात व नगदी लूट कर दिया था वारदात को अंजाम। वर्ष -2018 से फरार चल रहा था 5 हजार रुपये का ईनामी बदमाश।

इंदौर: पुलिस आयुक्त इंदौर महानगर हरिनारायणचारी मिश्र द्वारा इंदौर कमिश्नरेट में वाहन चोरी , नकबजनी आदि संपत्ति संबंधी अपराधों पर नियंत्रण हेतु इनमें संलिप्त बदमाशों के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई के लिए इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया है । उक्त निर्देशों के तारतम्य में अति. पुलिस आयुक्त (अपराध) राजेश हिंगणकर के मार्गदर्शन में, पुलिस उपायुक्त (अपराध) निमिष अग्रवाल एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त ( अपराध शाखा) गुरू प्रसाद पाराशर द्वारा क्राईम ब्रांच की टीमो को शहर में संपत्ति संबंधी घटनाओं की पतारसी कर वारदातों पर अंकुश लगाने एवं ऐसे आरोपियों की धरपकड़ करने एंव उदघोषित फरार ईनामी बदमाशो को पकडने हेतु अपराध शाखा की टीमों को निर्देशित किया गया ।

इसी कड़ी में कार्यवाही करते हुए आज दिनांक को क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबीर के द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी कि थाना राऊ क्षेत्र की श्री कृष्ण पेराडाईज कालोनी में वर्ष 2018 में फरियादी के घर में घुसकर फरियादी के साथ मारपीट कर उससे सोने चांदी के जेवरात लूटने वाले प्रकरण का फरार ईनामी आरोपी भुवानसिहं सिंगार आज अपने घर पर अपनी पत्नि व बच्चो से मिलने के लिये आने वाला है। जिस पर क्राईम ब्रांच की टीम ने मुखबीर के बताये स्थान घेराबंदी कर मुताबिक योजना के आरोपी 1. भुवानसिहं सिंगार पिता रडू सिंगार उम्र 40 साल नि. ग्राम गुराडिया थाना टाण्डा जिला धार को पकडा ।

Must Read- कार के शीशों पर ब्लेक फिल्म लगी होने पर चालको पर लगा जुर्माना, मौके पर रोक कर की कार्यवाही

फरार ईनामी बदमाश भुवानसिहं ने अपने साथी घमसिहं , वेलसिहं , आकेश , व मोहन के साथ मिलकर दिनांक -24/01/2018 की रात्री को श्री कृष्ण पेराडाईज कालोनी थाना राऊ में फरियादी किशोर अग्रवाल जो कि हार्डवेयर व्यापारी है उनके घर पर रात्री में घर का दरवाजा तोड कर घर में घुसकर उन्की पत्नि व उनके साथ मारपीट कर पत्नि का सोने का मंगलसूत्र , सोने की चुडिया व सोने के टाप्स व नगदी रुपये लूट कर भाग गये थे। घटना के कुछ समय बाद ही आरोपी मोहन को भी तत्समय क्राईम ब्रांच ने ही पकडा था तथा अन्य आरोपी व उक्त आरोपी भुवानसिहं पर तत्कालिन पुलिस अधीक्षक ( पूर्व ) जिला इन्दौर के द्वारा 5-5 हजार रुपये के ईनाम की उदघोषणा की गई थी।

आरोपी भुवानसिहं टाण्डा की गैंग का मुख्य सरगना है। उक्त गैंग का एक सदस्य आकेश की पिछले साल मौत हो चुकी है। बाकी अन्य दो आरोपी वैलसिहं व घमरसिहं अभी भी फरार है जिनकी भी सरगर्मी से तलाश की जा रही है। आरोपी से शहर की अन्य इसी तरह की जाने वाली चोरियों की वारदातों के संबंध में विस्तृत पुछताछ की जा रही है, जिससे चोरी की अन्य वारदाते खुलने की सम्भावना है। आरोपी के विरुद्ध अग्रिम वैधानिक कार्यवाही पुलिस थाना राऊ जिला इन्दौर द्वारा की जा रही हैं।