देश

कोरोना खतरे को लेकर फैसला, गर्भगृह में पुजारी को ही मिलेगा प्रवेश

इंदौर 6 जुलाई, 2020
लंबे समय से बंद धार्मिक स्थानों को आमजन हेतु खोलने के संबंध में आज रेसीडेंसी सभाकक्ष में विस्तृत चर्चा की गई। इस दौरान सांसद शंकर लालवानी, कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, गौरव रणदिवे, डॉ निशांत खरे एवं पंडित-पुजारी, धार्मिक विद्वान आदि उपस्थित थे।
बैठक के दौरान धार्मिक स्थलों के संचालन तथा कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए आमजनों के प्रवेश, पूजन, प्रतिष्ठान आदि पर विस्तृत चर्चा की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि, गर्भग्रह में केवल पुजारी ही अभिषेक कर सकेंगे। आमजनों के लिए गर्भग्रह में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। चूँकिं कोरोना वायरस लोहे की सतह पर करीब 3 दिन तक जिंदा रह सकता है अत: मंदिर परिसर में लोहे के गेट, रेलिंग, घंटी आदि सभी पर कपड़ा बांधा जाने के निर्देश दिए गए।
सांसद लालवानी ने कहा कि, मंदिर खुलने की स्थिति में निश्चित संख्या में ही लोगों का प्रवेश हो। ऐसा किसी भी प्रकार का आयोजन और उत्सव ना किया जाए जिससे भीड़ की संभावना हो।
कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि धर्मस्थलों के संबंध में महत्वपूर्ण बात पुजारियों का सुरक्षित रहना भी है। अन्यथा की स्थिति में मंदिर संक्रमण का केंद्र बन सकता है। अतः मंदिर परिसर में बाहर ही जलपात्र रखा जाएगा। किसी भी प्रकार के आयोजन आदि नहीं होंगे। शोभायात्रा, भंडारा, खिचड़ी-प्रसाद आदि का बांटना भी प्रतिबंधित रहेगा। मंदिर के बाहर नियमों से संबंधित नोटिस लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस संबंध में एक विस्तृत एसओपी जारी कर, दिशा निर्देश दिए जाएंगे जिसके अनुसार ही धर्मस्थल संचालित किए जा सकेंगे।

Related posts
देश

मुंबई के कई इलाकों भारी बारिश का दौर जारी, पीएम मोदी ने सीएम उद्धव ठाकरे से की बातचीत

मुंबई: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस…
Read more
breaking newsदेश

बेरुत में हुए विस्फोट से अब तक 113 लोगों की मौत, पूरे शहर की थर्रा गई इमारतें

बेरुत: जहा एक पूरा विश्व वैश्विक…
Read more
देश

मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों से की अपील,कहा- कोरोना को परास्त करने में दें अपना सहयोग

इंदौर 5 अगस्त, 2020 मुख्यमंत्री शिवराज…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group