breaking newsscroll trendingदेशराजस्थान

राजस्थान में सियासी ड्रामा, आमने-सामने गहलोत और पायलट

 

जयपुर: राजस्थान में अब सियासी ड्रामा शुरू हो गया है। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि वह उनकी सरकार गिराने की साजिश कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के बीच भी दिल्ली में बैठे केंद्रीय नेता राजस्थान सरकार को गिराने की साजिश रच रहे हैं।

स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने गहलोत सरकार गिराने की साजिश के मामले में दो भाजपा नेताओं को गिरफ्तार किया है। इन पर अओप है कि इन्होने कांग्रेस विधायकों को प्रलोभन दिया। कहा जा रहा है कि इन भाजपा नेताओं ने अलग-अलग नंबरों से कांग्रेस नेताओं से बात की है।

इसी बीच भाजपा के बहाने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट आमने-सामने आ गए हैं। अशोक गहलोत ने अपनी सरकार गिराने की साजिश का खुलासा करने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि जब एक बार मैं मुख्यमंत्री बन गया, तो बाकी लोगों को शांत हो जाना चाहिए और काम करना चाहिए। गहलोत का इशारा पायलट की तरफ था। माना जा रहा है कि इस कार्रवाई के जरिए अशोक गहलोत सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री पद से हटाने का दबाव भी आलाकमान पर बना सकते हैं।

इससे पहले 10 जुलाई को स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने यह खुलासा करते हुए मुकदमा दर्ज किया कि ब्यावर के रहने वाले बीजेपी के एक स्थानीय नेता भरत मालानी और उदयपुर के क्षत्रिय महासभा के उपाध्यक्ष अशोक सिंह ने दो मोबाइल नंबरों से कांग्रेस के नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की है। बीजेपी के दो नेताओं को गिरफ्तार करने के बाद एसओजी अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का भी बयान दर्ज करेगी।

उधर बीजेपी का आरोप है कि यह कांग्रेस का अंदरूनी झगड़ा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट में झगड़ा चल रहा है, जिसकी वजह से जबरदस्ती लोग बीजेपी को घसीट रहे हैं।