देशमध्य प्रदेश

इंदौर : नगर निगम सीमा के इन गांवों को छूट, शुरू होगी औद्योगिक गतिविधि

इंदौर। शहर में लाॅकडाउन का सख्ती के साथ पालन किया जा रहा है। इसी बीच प्रशासन ने नगर निगम की सीमा में शामिल 29 गावों को छूट भी दी है। इन गांवों में सशर्त उद्योगों को खोलने और संचालित करने की अनुमति दी गई है, जिसमें सैनिटइजेशन समेत कई सावधानियां रखनी होगी। वहीं इन गांवों में जो बहुमंजिला इमारतें, टाउनशिप हैं उनकी चहारदीवारी के भीतर किराना दुकान, सांची पाइंट, मेडिकल स्टोर, लॉण्ड्री, मोबाइल फोन शॉप, रिपेयरिंग शॉप दुकानें सुबह 11 से शाम 5 बजे तक खोली जा सकेंगी, लेकिन फल सब्जी, किराना की दुकानें आवासीय परिसरों के बाहर नहीं खुल सकेगी।

वहीं कोरोना संक्रमण ने विधानसभा क्षेत्र 2 को खासा प्रभावित किया है, जिसके चलते वहां पर सख्ती रहेगी। जबकि निपानिया, पीपल्याकुमार, कनाडिया, टिगरियाराव, बिचैली हब्सी, बिचैली मर्दाना, नायता मुंडला, पालदा, लिंबोदी, बिलावली, फतनखेड़ी, कैलोद करताल, निहालपुर मुंडी, हुक्माखेड़ी, सुखनिवास, अहीरखेड़ी, छोटा बांगड़दा, टिगरिया बादशाह, रेवती, बरदरी, भौंरासला, कुमेर्डी, भानगढ़, शक्करखेड़ी, तलावली चांदा, अरंड्या, लसूडिया मोरी, मायाखेड़ी, बड़ा बांगड़दा को छूट दी जाएगी।

कलेक्टर मनीष सिंह के मुताबिक यहां पर कोल्ड स्टोरेज, गोडाउन, शोरूम, खाद, बीज, कीटनाशक की दुकानें, कृषि गोदाम खोले जा सकेंगे। साथ ही यहां के रहवासी सुबह 11 से शाम 5 बजे के दौरान संस्थानों में आ‑जा सकेंगे, लेकिन एक गांव के रहवासी दूसरे गांव में आवागमन नहीं कर सकेंगे। इसकों लेकर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश भी जारी किए गए है और इन गांवों के बीच के रास्तों को सील करने के लिए कहा गया है। इन क्षेत्रों में गैस सिलेंडर, दूध वितरण, दवाई के अलावा अन्य गतिविधियां भी जारी रहेंगी। वहीं जिन दुकानों और संस्थानों को अनुमति प्रदान की गई है उन्हे नियमों का पालन करना होगा। साथ ही ग्राहकों के बीच दूरी का भी ध्यान रखना होगा।

वहीं गांवों में शराब दुकाने खोले जाने को लेकर भी विचार किया जा रहा है। शहर के लगभग 300 सुपर स्पेशलिटी क्लीनिक खोले जा चुके हैं। जनरल प्रैक्टिशनर के लिए दिशा निर्देश तय किए जा रहे हैं। इन्हें एक ऐप उपलब्ध कराया जाएगा जिससे ये सर्दी खांसी और कोरोना के लक्षण वाले मरीजों की जानकारी दे सकेंगे। कलेक्टर बताया कि फिलहाल 25-30 क्षेत्रों पर फोकस किया जा रहा है।