देशमध्य प्रदेश

इंदौर: अमृत योजना और स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट निर्माण कार्य जल्द होंगे शुरू

इन्दौर :  आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा विगत दिनो अमृत योजना एवं स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक ली गई थी। समीक्षा बैठक के दौरान आयुक्त पाल ने अमृत योजना के जो पेयजल वितरण लाइन, पानी की टंकी, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट सीवरेज की लाइन डालने तथा इंदौर के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत ऐतिहासिक धरोहरो का जीर्णोद्धार व पुनद्र्धार के कार्य जो बंद है उन्हें फिर से शुरू करने हेतु शासन से अनुमति प्राप्त कर प्रारम्भ करने के निर्देश दिए गए।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर की ऐतिहासिक धरोहरो के जीर्णोद्धार व पुर्नाद्धार कार्यो तथा अमृत योजना के तहत पेयजल टंकी के निर्माण कार्य, पेयजल लाइन डालने का कार्य जिस टंकी से जल वितरण हो सकता है उसका कार्य प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए गए। जल वितरण लाइनों के कई स्थानों पर अधूरा कार्य हे उसे पहले पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। इसके साथ ही सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के कार्य एवं सीवरेज लाइन डालने के कार्य शुरू करने के निर्देश दिए गए।

इसी क्रम में इंदौर शहर में नगर निगम सीमा क्षेत्र में कोरोना वायरस की परिस्थितियों को देखते हुए लाॅकडाउन में शासन से अनुमति प्राप्त कर, शहर में अमृत योजनांतर्गत भूरी टेकरी, तेजाजी नगर, बिचैली मर्दाना, त्रिवेणी पार्क में निर्माणधीन पेयजल टंकियो का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया गया है। इसके साथ ही इंदौर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत गोपाल मंदिर, गांधी हाॅल जीर्णोद्धार व पुनद्र्धार कार्य तथा स्टार चैराहे पर बस डिपो निर्माण, सरवटे बस स्टण्ेड से शास्त्री अंडर ब्रिज तक सीवर लाईन डालने, रेल्वे स्टेशन के सामने बेरी कटिंग कर कार्य, आजाद नगर चिडियाघर एसटीपी प्लांट, बिजलपुर एसटीपी, नहर भण्डारा एसटीपी, राधा स्वामी सीवरेज टीटमेंट प्लांट आदि कार्य को सुरक्षा व संसाधनो के साथ प्रारम्भ किये गये है।

आयुक्त पाल के निर्देशानुसार समस्त विकास कार्य स्थलो पर उपलब्ध श्रमिको से कार्य कराया जा रहा है तथा निर्देशानुसार संबंधित निर्माण कार्य में संलग्न ठेकेदार फर्म को भी कोविड 19 के प्रोटोकाॅल तथा सेनिटाइजर, केप, सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने के निर्देश दिये गये तथा किसी भी निर्माण स्थल पर ठेकेदार की जिम्मेदारी होगी कि वह कोविड 19 के प्रोटोकाॅल का पालन सुनिश्चित करे।