दिल्ली

देश का नाम भारत करने की याचिका पर SC का दखल देने से इनकार

नई दिल्ली: संविधान से देश का नाम इंडिया हटाने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने दखल देने से इनकार कर दिया है। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबडे ने कहा कि हम ये नहीं कर सकते क्योंकि पहले ही संविधान में भारत नाम ही कहा गया है। कोर्ट ने कहा कि याचिका को सरकार के पास रिप्रेजेंटेशन के तौर पर माना जाए और केंद्र को ज्ञापन दिया जा सकता है

दरअसल, याचिकाकर्ता की दलील है कि इंडिया शब्द गुलामी की निशानी है और इसीलिए उसकी जगह भारत या हिंदुस्तान का इस्तेमाल होना चाहिए।

याचिकाकर्ता का कहना है कि संविधान के अनुच्छेद 1 में संशोधन कर इंडिया शब्द हटा दिया जाए। अभी अनुच्छेद 1 कहता है कि भारत यानी इंडिया राज्यों का संघ होगा। इसकी जगह संशोधन करके इंडिया शब्द हटा दिया जाए और भारत या हिन्दुस्तान कर दिया जाए। देश को मूल और प्रमाणिक नाम भारत से ही मान्यता दी जानी चाहिए।

उमा भारती ने भी उठाए सवाल

इस मामले में बीजेपी नेता उमा भारती ने दो दिन पहले एक के बाद एक सात ट्वीट किए. उमा भारती ने कहा, ‘एक देश या एक व्यक्ति के दो नाम नहीं होते जैसे कि सूर्य प्रकाश that is सनलाइट, ऐसा किसी का नाम नहीं होगा। इसी तरह से इंडिया that is भारत किसी का नाम होना हास्यास्पद है।’

Related posts
दिल्लीदेश

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू कोरोना संक्रमित, पत्नी की रिपोर्ट निकली निगेटिव

नई दिल्ली : कोरोना महामारी की तेज़ी से…
Read more
दिल्लीदेश

LJP का BJP को अल्टीमेटम, चिराग बोले- जल्द सीट शेयरिंग पर हो फैसला, वरना...'

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा चुनाव क…
Read more
दिल्लीदेश

बाबरी विध्वंस केस : भाजपा के दिग्गजों के लिए भारी आज की रात, कल फैसला सुनाएगी अदालत

लगभग 28 वर्ष पहले अयोध्या में ढहाई गई…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group