देशमध्य प्रदेश

आशीष सिंह के जाने के बाद शहर की सफाई व्यवस्था चरमराई

इंदौर। हमेशा चकाचक दिखने वाले शहर के मध्य क्षेत्र में इन दिनों साफ सफाई की व्यवस्था चरमराई हुई नजर आने लगी है। बताया जाता है कि पूर्व निगम आयुक्त आशीष सिंह की कसावट के चलते सफाई व्यवस्था काफी चाक-चौबंद थी। अब उनके जाने के बाद सफाई यूनियनों का प्रभाव और हस्तक्षेप काफी बढ़ गया है इसके चलते बड़ी संख्या में सफाई कर्मी अपने काम पर नहीं आ रहे हैं।

वही 50 साल से अधिक उम्र वालों को संक्रमण काल में ड्यूटी पर नहीं आने की रियायत दी गई है इसके चलते भी शहर के मध्य क्षेत्र में सफाई व्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। जहां कभी गलियों में कचरा नजर नहीं आता था इन दिनों कई गलियों में कई कई दिनों तक झाड़ू ही नहीं लग पा रही है। यही हाल अन्य कई कालोनियों का भी है।

बताया जाता है कि सफाई यूनियनों का हस्तक्षेप इतना बड़ा हुआ है कि उनसे संबंधित लोग अक्सर ड्यूटी से गायब रहते हैं और निगम के सीएसआई और स्वस्थ्य अधिकारी उन पर कार्यवाही नहीं कर पा रहे हैं । पिछले लंबे समय से स्वास्थ्य विभाग में काम के प्रति लापरवाही करने वालों पर कोई कार्यवाही भी नहीं हुई है इसका असर भी सफाई व्यवस्था पर लगे हुए अमले पर पड़ा है। चूंकि आशीष सिंह के जाने के बाद अब स्वस्थ्य विभाग के अपर आयुक्त रजनीश कसेरा का प्रभाव भी कम हो गया है इसका असर भी विभाग पर पड़ रहा है।