मध्यप्रदेश में शिक्षकों की कमी के बावजूद विधायकों की सेवा में लगाये जा रहे टीचर

प्रदेश के सरकारी स्कूलों के गुरुजी, विधायकों की सेवा में तैनात किए गए हैं।

0
73

भोपाल। प्रदेश के सरकारी स्कूलों के गुरुजी, विधायकों की सेवा में तैनात किए गए हैं। दस नए विधायकों ने अपने स्टाफ में स्कूल मास्टरों को बाबू बनाया है। इनकी पगार विधायक ही तय करेंगे।शिक्षा का अधिकार कानून में सरकारी शिक्षकों को पढ़ाने के अलावा दूसरे काम में लगाने पर रोक है। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक ष्पराजगढ़ से कांग्रेस विधायक फुंदेलाल मार्को के स्टाफ में उनकी पत्नी प्रेमवती सिंह को तैनात किया गया है, जो अनूपपुर के प्राथमिक स्कूल में टीचर हैं। कांग्रेस विधायक विजय राघवेंद्र सिंह ने अपने भतीजे टीचर रघुराज सिंह को बाबू बनाया है।

10 विधायकों ने अपने स्टाफ ,में शामिल किया
जिन दस विधायकों ने गुरुजी को बाबू बनाया है, उनमें दो कांग्रेस के हैं। मार्को और विजय राघवेंद्र के अलावा मुरली मोरवाल, दिलीप सिंह गुर्जर, प्रताप ग्रेवाल, साहूलाल सिंह, कमलेश गौड़ जाटव, बनवारीलाल शर्मा, राजवद्र्धन सिंह दत्तीगांव और लीना जैन ने अपने स्टाफ में गुरुजियों की तैनाती की है। लीना जैन के अलावा सभी कांग्रेस विधायक हैं।सूत्रों के मुताबिक इन गुरुजियों की पगार विधायक के प्रमाण पत्र से तय होगी। हालांकि, सरकारी स्कूलों में टीचर के पद बड़ी संख्या में खाली हैं। साढ़े चार हजार से ज्यादा स्कूल बिना नियमित टीचर के चल रहे हैं। इन टीचर की तैनाती पर भाजपा ने भी सवाल उठाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here