महाराष्ट्र में मासूम की झील में डूबने से मौत, आपदा प्रबंधन की टीम ने बताया ये कारण

शुक्रवार करीब 8 बजे राबोदी इलाके का एक मासूम बच्चा तैरने आया था। लेकिन इस दौरान मानव के द्वारा निर्मित झील में डूबने से मौत हो गई है।

महाराष्ट्र के ठाणे से एक बड़ी दुखद खबर सामने आई हैं। पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए मगर में गणपति विसर्जन के लिए कृत्रिम झील का निर्माण किया गया था। यहा पर बीते शुक्रवार करीब 8 बजे राबोदी इलाके का एक मासूम बच्चा तैरने आया था। लेकिन इस दौरान मानव के द्वारा निर्मित झील में डूबने से मौत हो गई है।

ठाणे शहर के वेस्ट में बसा राबोदी में 7 साल के बच्चे का कृत्रिम झील में डूबने से मौत हो गई है। यहा झील पर्यावरण के प्रदूषण को दूरूस्त करने के लिए बनाई गयी थी। क्यों हर साल शहर के कई इलाकों में गणपति विसर्जित करने के लिए इस तरह के झीलों को बनाया जाता हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, मासूम बीते शुक्रवार को करीब 8 बजे झील में तैरने को गया था लेकिन अचानक डूब गया और उसकी मौत हो गयी हैं। मासूम के नाम जैहाद अजहर शेख बताया जा रहा हैं।

Also Read : BJP : सोनाली मर्डर केस में एक और बड़ा खुलासा, मौत के पीछे ये वजह बता रही है पुलिस

निकाय के क्षेत्रीय आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रमुख ने ये बताई वजह

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, ठाणे नगर निकाय के क्षेत्रीय आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रमुख अविनाश सावंत ने घटना के बारें में बताया कि, अंबे-गोसाले झील घटना उस वक्त घटी थी जब राबोदी का 7 साल का बच्चा जैहाद अजहर शेख कृत्रिम झील में तैरने को गया था। वह शुक्रवार करीब रात 8 बजे का मामला हैं।

राबोदी पुलिस के अनुसार, बच्चे का शव झील से निकाल लिया गया हैं। पास के नजदीकी अस्पताल में शव को भेज दिया। पूरी घटना की जांच में जुट गयी हैं।