नवरात्रि में माता के दरबार में जहां पर भक्ति का माहौल होता है वहीं पर मातृ शक्तियां माता की आराधना में नृत्य करती हुई नजर आ रही है। श्री वैष्णव धाम गरबा महोत्सव में गरबा प्रशिक्षण और मार्गदर्शन रेखा जनक गांधी के नेतृत्व में बिचौली स्थित श्री वैश्णव धाम मंदिर प्रांगण में हो रहे पारंपरिक गरबे के साथ ही गुजराती आदिवासी गरबों ने पारंपरिक वातावरण के साथ विशाल छटा बिखेर रखी है।

दरअसल गरबा महोत्सव आयोजक रचना विकास गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि यहां पर प्रतिदिन अलग-अलग परिधानों में मातृशक्तियों के द्वारा भव्य गरबे किए जा रहे हैं। जिसमें प्रमुख रूप से मालवा के प्रसिद्ध आदिवासी गरबे के साथ ही राजस्थानी व गुजराती एवं दो और तीन ताली प्रमुख है।

Must Read- लोकसेवा आयोग के पेपर्स से हुई छेड़छाड़, बुकलेट नंबर पर लगाया व्हाइटनर

श्री वैष्णो धाम गरबा महोत्सव में बड़ी संख्या में मातृशक्तियां पहुंच रही है और गरबे का आनंद ले रही है। विशेष रूप से राजस्थानी व गुजराती गरबे प्रमुख रूप से हो रहे हैं। लेकिन इसके साथ ही दो एवं तीन ताली गरबा भी प्रतिदिन किये जा रहे है। इंदौर में आदिवासी गरबे ने अपनी अलग ही छटा बिखेर रखी है। जिसके चलते यहां पर बड़ी संख्या में लोग गरबे करने एवं देखने के लिए लोग पहुंच रहे हैं।