पुलवामा हमले पर इमरान खान का बड़ा खुलासा, बताया किसने दिया घटना को अंजाम

0
imran khan

नई दिल्ली: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों अमेरिका के दौरे पर है। इस दौरान इमरान खान फिर कश्मीर राग अलापने लगे है। खास बात तो ये है कि इमरान खान ने अपने मुल्क में आतंकी संगठनों की मौजूदगी की बात कबूल ली है। इसी दावे के साथ इमरान खान ने पुलवामा हमले को लेकर विवादित बयान दिया है।

पुलवामा हमले को लेकर इमरान खान ने कहा कि ये एक ऐसा मामला था जिसे स्थानीय आतंकियों ने अंजाम दिया था। उन्होंने दावा किया कि जैश-ए-मोहम्मद ना सिर्फ पाकिस्तान में बल्कि कश्मीर में भी सक्रिय है और वहां से भी काम करता है। इमरान के इस बयान से साफ है कि वह इस बात को स्वीकार रहे हैं कि पुलवामा आतंकी हमले के पीछे जैश-ए-मोहम्मद का ही हाथ था, जिसका आका मौलाना मसूद अजहर है।

गौरतलब है कि इससे पहले पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मंचों पर खुद की जमीन पर जैश-ए-मोहम्मद की मौजूदगी को नकारता रहा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाक्सितान की ही सिफारिश पर चीन में मसूज अजहर के ग्लोबल आतंकी घोषित किए जाने का विरोध किया था।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर को लेकर ऐसा बयान दिया जिससे बवाल मचा हुआ है। ट्रंप ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझसे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था। हालांकि ट्रंप के इस बयान पर व्हाइट हाउस ने सफाई पेश की और कहा कि ये भारत-पाकिस्तान के बीच का मामला है।

इमरान खान ने सिर्फ पुलवामा ही नहीं बल्कि न्यूयॉर्क में हुए 9/11 आतंकी हमले को लेकर भी उन्होंने टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि न्यूयॉर्क में हुए हमले का पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है। इमरान खान ने ये बात एक इंटरव्यू में कही है। इसी इंटरव्यू में उन्होंने पाकिस्तान में 40 आतंकी संगठन के काम करने की बात कबूल की है। इसके साथ ही इमरान ने दावा किया कि पाकिस्तान की पिछली सरकारों ने अमेरिका को आतंकी संगठनों के बारे में सच नहीं बताया।

कश्मीर मुद्दे पर जिक्र करते हुए इमरान खान ने कहा कि जब अटल बिहारी वाजपेयी और परवेज मुशर्रफ सत्ता में थे तो वह इस मुद्दे के सुलझाने के बिल्कुल करीब थे लेकिन दुर्भाग्यवश ये पूरा नहीं हो पाया था।