देश में गुलाबी ठंड के साथ-साथ मानसून का दौर भी जारी है। बीते कुछ दिनों से कुछ राज्यों में लोगों को बारिश के साथ ठंड का भी सामना करना पड़ रहा है। जिसकी वजह से कई मुस्किलो का भी सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग के अनुसार, अगली 27 अक्टूबर तक 8 राज्यों मे दोनों मौसम साथ में बने रहेंगे। इसकी वजह बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है।

चक्रवात सीतरंग का असर

जिसके चक्रवात में बदलने की संभावना जताई जा रही है। ऐसा होने की स्थिति में आंध्र प्रदेश पश्चिम बंगाल उड़ीसा सहित बिहार और झारखंड के मौसम में भारी बदलाव देखने को मिलेगा। चक्रवात सीतरंग का असर 7 राज्य में देखने को मिलेगा इसके अलावा दक्षिणी राज्य में बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।

भी मौसम भयानक बना रहेगा। तीव्र हवाएं चलेंगी। चक्रवात का अधिक असर बंगाल और झारखंड के कुछ हिस्से पर देखा जा सकता है। इसके अलावा रांची लोहरदगा सहित अन्य जगहों पर अलर्ट जारी कर दिया गया है। 25 अगस्त से कोहरे में वृद्धि के संकेत मिले हैं। इसके अलावा गुलाबी ठंड की दस्तक शुरू हो गई है। समय से पहले ठंड की दस्तक से इस बार ठंड के अधिक पड़ने की संभावना जताई जा रही।

भारी चक्रवाती तूफान का जारी अलर्ट

उड़ीसा आंध्र प्रदेश में भारी चक्रवाती तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने इन क्षेत्रों के लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। इसके अलावा प्रशासन को मुस्तैद कर दिया गया है। दरअसल कई क्षेत्रों में मौसम में बदलाव के संकेत मिलने लगे हैं। चक्रवात के रूप में डिप्रेशन के बदलने की संभावना तीव्र हो गई है। मौसम विभाग की मानें तो 2 दिन में इसका भयानक आंध्रप्रदेश और उड़ीसा के कुछ हिस्सों पर देखा जाएगा। इसके साथ ही झारखंड उड़ीसा बिहार आंध्र प्रदेश और बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

Also Read : Train accident : 29 डिब्बे पटरी से उतरे नीचे, रेस्क्यू ऑपरेशन है जारी

पर्वतों पर बर्फबारी का जारी सिलसिला

हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड सहित जम्मू कश्मीर लेह लद्दाख के पर्वतों पर बर्फबारी का सिलसिला जारी है। इसके अलावा बर्फबारी और बूंदाबांदी से मौसम में ठंडक घुल रही है। इन क्षेत्रों में बर्फ पड़ने के कारण देश में ठंड की दस्तक जल्दी देखने को मिलेगी।

MP और छत्तीसगढ़ में बदला मौसम

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में मौसम में बदलाव दिखेगा। दरअसल बंगाल की खाड़ी की तरफ बढ़ रहे। चक्रवात के बांग्लादेश की तरफ होने की संभावना जताई गई है। इसी बीच इधर से चल रही नम हवाओं का असर देखने को मिलेगा। मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के तापमान में भारी गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। इसके अलावा आसमान में बादल छाए रहेंगे।

दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश

दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश का कहर जारी रहेगा। केरल कर्नाटक तमिलनाडु महाराष्ट्र सहित आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। लोगों को सतर्क और सजग रहने की सलाह दी गई है। इसके अलावा इन क्षेत्रों के तापमान में भारी गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। हालांकि चक्रवात का इन क्षेत्रों पर भयानक असर होने की संभावना से इनकार किया गया है।

Also Read : IMD Update: मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, दिवाली पर इन जिलों में बरसेंगे बादल

पूर्व राज्य में बूंदाबादी का असर 

असम मेघालय मणिपुर नागालैंड सहित अन्य पूर्व राज्य में बूंदाबादी का असर जारी रहेगा। तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी है। कोहरे की दस्तक शुरू हो गई है। गुलाबी ठंड के दशक के बाद मौसम में तेजी से बदलाव नजर आ रहे हैं। तापमान में 5 से 7 फीसद की भारी गिरावट रिकॉर्ड की गई है।

इन क्षेत्रों में भारी बारिश

मिजोरम, त्रिपुरा और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी बारिश की संभावना है।अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा और केरल और माहे में गरज के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है। असम और मेघालय, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और लक्षद्वीप में गरज के साथ व्यापक बारिश हो सकती है।

गरज के साथ छिटपुट बारिश अरुणाचल प्रदेश और तटीय कर्नाटक को प्रभावित करेगी।गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, रायलसीमा और आंतरिक कर्नाटक में गरज के साथ छिटपुट बारिश होने की संभावना है। पूरे भारत में हवा की गुणवत्ता खराब होने की संभावना है।