देश के कुछ राज्यों में बारिश का कहर जारी है। वही पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो रही है। इसी की वजह से भारत के अधिकांश क्षेत्रों में तेजी से मौसम परिवर्तित हो रहा है। इससे लोगो को कई मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ राज्यों के अधिकांश जिलों में कलेक्टर ने छुट्टी की घोषणा कर दी है।

ठंड का सितम बढ़ेगी गलन

देशभर में 6 जनवरी से लेकर 10 जनवरी तक उत्तर भारत में ठंड का सितम जारी रहेगा। सर्द हवाओं के कारण गलन बढ़ेगी। इसके साथ है बिहार, झारखंड के कुछ हिस्सों में आज बारिश की चेतावनी जारी की गई है जबकि हरियाणा, तमिलनाडु, राजस्थान में शीत लहर की स्थिति पड़ेगी। इसके अलावा मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के क्षेत्र में बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

दिल्ली, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब सहित हिमाचल में तापमान में भारी गिरावट देखी गई है। इसके साथ ही इन क्षेत्रों में शीत लहर का ऑरेंज और रेड अलर्ट जारी किया गया है।

दिल्ली में 2 साल बाद तापमान हुआ कम

दिल्ली में लगातार तापमान में गिरावट देखने को मिल रही है। वही फिलहाल न्यूनतम तापमान 3 डिग्री पर बना हुआ है। जो 2 साल में जनवरी में सबसे कम तापमान दिल्ली का रिकॉर्ड किया गया है। बुधवार को राजधानी में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि डलहौजी में न्यूनतम तापमान 4.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

धर्मशाला में न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। देहरादून में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं मसूरी में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। नैनीताल में मौसम विभाग द्वारा चेतावनी जारी कर दी गई है। कोल्ड डे का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

यूपी के इन इलाकों में अलर्ट जारी

लखनऊ में शीत लहर के साथ कड़ाके की ठंड का पूर्व अनुमान जताया गया। है मौसम विभाग के अनुसार राजधानी में 6 से लेकर 12 जनवरी तक गलन रहेगी। हल्की बूंदाबांदी की भी आशंका जताई गई है और 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का पूर्व अनुमान जताया गया। लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

इसके साथ ही 18 जिलों में रेड अलर्ट जारी करते हुए शीतलहर और कोहरे का पूर्वानुमान भी जताया गया है। न्यूनतम तापमान के लुढ़क कर 6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना जताई गई है।

बिहार में हो सकती है बारिश

8 से मौसम में भारी बदलाव नजर आएंगे। बिहार में ठंड से 64 साल का रिकॉर्ड टूट गया है। मौसम विभाग द्वारा शीतलहर को लेकर अलर्ट जारी किया गया। अगले 5 दिन तक फिलहाल मौसम में कोई बदलाव नहीं होगा। वही घने कोहरे से लोगों को बचने की सलाह दी गई है।

केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिकों की माने तो साल 1960 से लेकर साल 2023 तक अधिकतम तापमान सबसे कम है। उत्तर भारत में पिछले 64 साल में सबसे कम अधिकतम तापमान जनवरी में 5 दिसंबर का रिकॉर्ड किया गया है। 9 दिसंबर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण मौसम में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव देखने को मिलेंगे। साथ ही कोहरे और धुंध की तीव्रता में भी कमी आएगी।

येलो अलर्ट जारी किया गया है जबकि शनिवार के लिए भी मौसम विभाग द्वारा चेतावनी जारी कर दी गई है। 10 जनवरी तक एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। जिससे शीतलहर से राहत मिलेगी और तापमान में दो से तीन फीसद की बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। हालांकि राजस्थान में बारिश की संभावना से इनकार किया गया है।

उत्तराखंड में बारिश के साथ बर्फबारी

8 जनवरी से मौसम में बड़े प्रभाव पड़ेंगे। पहाड़ी जिले सहित उत्तराखंड हिमाचल के उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़ में आज जनवरी से बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया गया है। मैदानी क्षेत्र में कोहरे से फिलहाल राहत मिलती नजर आएगी। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के साथ ही न्यूनतम तापमान घटकर 2 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाएंगे।

कुछ क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान माइनस में पहुंच गए हैं। शुक्रवार को कोहरे सहित शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

जबकि 8 जनवरी से कमजोर पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के साथ बर्फबारी के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। इस दौरान पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी बावजूद मैदानी इलाकों में तापमान में कमी देखी जाएगी। बीकानेर में आज न्यूनतम तापमान 0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, मध्य प्रदेश के नौगांव छतरपुर में पारा 0.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

झारखंड में ठंड का प्रकोप

झारखंड के कुछ क्षेत्रों में आज बारिश की चेतावनी जारी की गई। हालांकि कुछ क्षेत्रों में आसमान साफ रहेगा। कड़ी धूप खिली रहेगी। न्यूनतम तापमान में वृद्धि देखी जाएगी। अगले 2 दिनों से झारखंड के कुछ इलाकों में तापमान में तीन से पांच फीसद की गिरावट का पूर्वानुमान जताया गया है। कोल्ड डे को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है।

पूर्वी राज्यों में बारिश की चेतावनी

पूर्वी राज्य की बात करें तो मेघालय मणिपुर नागालैंड आदि में बर्फबारी के साथ में हल्की बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। इसके अलावा कई क्षेत्रों में बर्फबारी के कारण आवागमन सेवा बाधित रहे।गी वहीं मौसम विभाग द्वारा शीतलहर और ठंडी हवा चलने का पूर्वानुमान जताया गया है। लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।