देश के अधिकांश राज्यों से मानसून की विदाई हो चुकी है और वापस लौटता मानसून भी अब कई राज्यों में भारी बारिश कर रहा है। यहीं कारण है कि मध्यप्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश के कारण दशहरा का त्योहर भी बिगड़ गया था। खंडवा, खरगोन, इंदौर सहित कई जिलों में बारिश के कारण रावण दहन का कार्यक्रम टालना पड़ा। अब लोगों के मन में यह आशंका है कि कहीं दीपावली पर्व भी बारिश के कारण ख़राब न हो जाए।

दीपावली पर इन जिलों में हो सकती है बारिश

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक 21 अक्टूबर से बंगाल की खाड़ी में एक नया सिस्टम एक्टिव हुआ है जिसका असर छत्तीसगढ़ व पूर्वी मध्यप्रदेश में दीपावली पर पड़ता है। ये सिस्टम 25 अक्टूबर तक एक्टिव रहने की बात मौसम विज्ञानियों ने कही है। नया सिस्टम एक्टिव होने के कारण मौसम विभाग ने दीपावली पर मध्यप्रदेश के सागर, छतरपुर, दमोह, टीकमगढ़, पन्ना, निवारी, जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, मंडला और डिंडोरी, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर और डिंडौरी, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली जिलों में हल्की बारिश हो सकती है। मौसम विज्ञानियों का ये भी कहना है कि मुख्य मानसून की विदाई हो चुकी है। 25 अक्टूबर तक पोस्ट मानसून एक्टिव रहेगा, हालांकि, उसका असर पूरे प्रदेश पर नहीं रहेगा।

गुलाबी ठण्ड दे रही दस्तक

मध्यप्रदेश में 14 अक्टूबर को मानसून की विदाई के बाद धीरे धीरे मौसम में ठंडक घुलने लगी है। रात और अल सुबह के वक्त गुलाबी ठंडक का एहसास प्रदेशवासियों को होने लगा है। हालांकि, मौसम बदलने से रात के पारे में एक से दो डिग्री तक बढ़ोतरी होने की बात कही जा रही है।