पहली बार प्रवासी भारतीय सम्मलेन और ग्लोबॉल इन्वेस्टर समिट में आईसीएआई के द्वारा लगाये गये स्टाल पर निवेशकों ने अपनी जिज्ञासाएं विशेषज्ञों से साँझा की। आईसीएआई के सेंट्रल कौंसिल मेम्बर सीए संजय अग्रवाल और इंदौर ब्रांच चेयरमैन सीए आनंद जैन ने बताया की यह पहला मौका है जब आईसीएआई ने इस तरह के सम्मेलेन मैं भाग लिया है और अपनी सहभगिता प्रदर्शित की है। उन्होंने बताया कि आईसीएआई स्टाल 4 चीज़ो पर केंद्रित हैः

1. रेडी बुकलेट
2. रोबोट
3. विशेषज्ञों द्वारा तुरंत सलहा
4. स्टाल पर आने वालो के लिये गिफ्ट

कम्प्लीट बिजनेस सॉल्यूशन पर रेडी बुकलेट

आईसीएआई के प्रोफेशनल डेवलपमेंट कमिटी के तत्वाधान में एक्सेस एमपी- कम्पलीट बिज़नेस सोल्यूशन के नाम से एक कंपाइलेशन तयार किया गया है। सीए केमिशा सोनी के तत्वाधान मैं तयार किए गये इस बुकलेट में मध्य प्रदेश में किसी भी प्रकार की इंडस्ट्री या बिज़नेस को चालू करने के लिए जरुरी लाइसेंस, सब्सिडी, फाइनेंस, कंप्लायंस आदि की विस्कृत जानकारिया इसमें उपलब्ध है। साथ ही मध्य प्रदेश सरकार द्वारा फोकस किए जा रहे सेक्टर जैसे फूड, आईटी, टूरिस्ट, फार्मा, लाजिस्टिक, ऑटोमोबाइल, टैक्सटाइल आदि सेक्टर के लिए स्पेसिफिक चैप्टर बनाए गए है। QR कोड के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक मोड मैं यह किताब सभी के लिए उपलब्ध है।

आईसीएआई रोबोट

पूरी प्रदर्शनी में आईसीएआई रोबोट आकर्षण का केंद्र रहे। एमपी के मुख्य मंत्री श्री शिवराज सिंह ने भी रोबोट से इंटरेक्शन किया और आईसीएआई के इस टेक्नोलॉजिकल एवोल्यूशन की तारीफ़ की। इस रोबोट मैं पीबीडी, जीआईएस की जानकारी, सेल्फ़ी मोड जिसमें फोटो खिचना और एक फ्रेम बनाकर तुरंत मेल id पर फोटो भेजी जा रही है।
इस रोबोट की ख़ास बात यह है की पूरे प्रदर्शनी हॉल में एक मात्र रोबोट है। यह रोबोट प्रश्न पूछने पर विशेषज्ञों तक ले जाते है।

विशेषज्ञों द्वारा तुरंत सलाह

कई निवेशकों और नये बिज़नेस आइडियाज़ ढूँढ रहे युवकों के मन में काफ़ी प्रश्न रहते है इन प्रश्नों के उतर देने के लिए आईसीएआई ने विशेषज्ञों की टीम अपने स्टाल पर रखी है। यहाँ निवेषक NRI टैक्स, जीएसटी, एमएसएमई एवं स्टार्टअप पॉलिसी, फंड मैनेजमेंट आदि पर सवाल पूछ रहे है।

1. एमपी बाकी राज्यो के मामले क्यों पसंद किया जाना चाहिए?

उतर- एमपी देश के दिल में है और मध्य में होने के कारण लॉजिस्टिक्स कनेक्टिविटी अन्य राज्यो की तुलना में बेहतर है। साथ ही टेक्नीकल प्रोफेशनल्स भी एमपी में अन्य राज्यो की तुलना में अच्छे और कम दाम पर मिल जाते है।

2 . मैं एक स्टार्टअप लगाना चाहता हूँ, मुझे कंपनी बनाना चाहिए या फर्म?

उतर – यदि आप स्टार्टअप के माध्यम से कार्य करना चाहते है और भविष्य में फंडिंग/इन्वेस्टमेंट भी चाहते है तो कंपनी बनाकर कार्य करना चाहिए। निश्चित ही इसमें खर्च फर्म बना कर या प्रोपराइटर के रूप में करने से अधिक आता है। कंपनी बनाने में 15-20 हज़ार का कम से कम खर्च आता है एवं वार्षिक कंप्लायंस भी करना पड़ते है।

3. मैं दुबई रहता हूँ और मेरे माता पिता को भारत मे पैसा भेजता हूँ तो उस पर कोई टैक्स लगेगा ?

उतर- नहीं लगेगा क्योकि यह आय भारत मे नहीं हुई है। साथ ही एफडी / NRE अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज पर भी टैक्स नहीं लगता है।

Also Read : प्रवासी भारतीयों के लिए सांस्कृतिक संध्या के बाद हुआ रात्रि भोज, प्रदेश के सभी लजीज व्यंजन परोसे थाली में

4 . स्टॉल पर आने वालों के लिए गिफ्ट

स्टॉल पर आने वाले आगंतुकों के लिए प्लांट की जा सके ऐसी पेंसिल रखी गई है जिसमें अलग अलग तरह के बीज़ है जिन्हें रोपित करने पर धनिया, अदरक, मिर्ची, तिल्ली, टमाटर आदि का पौधा उगेगा।