गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, ज्ञानवापी मामले को लेकर कही ये बात

वाराणसी जिला कोर्ट के ज्ञानवापी मामले में हिंदू पक्ष के हक में जब से फैसला आया है, तभी से हिंदू पक्ष में खुशी की लहर है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ज्ञानवापी मामले को लेकर अपनी रखी और कांग्रेस को भी आड़ेहाथ लिया।

जिला कोर्ट ने वाराणसी के ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में हिंदू पक्ष के हक में फैसला सुनाया है और मुस्लिम पक्ष की याचिका को खारिज कर दिया गया है। जब से वाराणसी जिला कोर्ट के ज्ञानवापी मामले में हिंदू पक्ष के हक में जब से फैसला आया है, तभी से हिंदू पक्ष में खुशी की लहर है। फैसला आने के बाद अदालत के बाहर मौजूद जनता ने जय जय सियाराम और हर हर महादेव के नारे लगाकर और अपनी खुशी जाहिर की।

Must Read- ब्रह्मलीन स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के उत्तराधिकारी का हुआ ऐलान, इन्हे बनाया शंकराचार्य

ज्ञानवापी मामले में गृह मंत्री नरोत्तम शर्मा ने मीडिया से चर्चा कर सवालों के जवाब देते हुए कहां कि “जो भी भ्रम की स्थिति है वह अब स्पष्ट हो जाएगी और न्यायालय के आदेश का हम सम्मान करते हैं। जो लोग भ्रम और भय फैलाना चाहते हैं, वह अभी स्थिति पूरी तरह से स्पष्ट हो जाएगी है”।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि “कांग्रेस आदिवासी समाज में खत्म हो चुकी है और उससे मिलकर विधानसभा चुनाव में लड़ना चाहती हैं। लेकिन जैसी स्थिति नगर पालिका के चुनाव में हुई थी कांग्रेस को इस बार भी विधानसभा में भी कोई उम्मीदवार नहीं मिलेंगे। कांग्रेस जयस जैसे छोटे संगठन के सहारे चुनाव लड़ेगी”।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विधानसभा सत्र को लेकर कहना है कि “सदन के अंदर सभी मुद्दों पर चर्चा की गई है और विपक्ष हर बार की तरह इस बार भी हंगामा करेगा। इसके लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है। जिसमें कई अहम मुद्दों पर चर्चा होगी”। वाराणसी जिला कोर्ट का कहना है कि हिंदू पक्ष के श्रृंगार गौरी मामले का तर्क गौर से सुनने लायक है। यह मामला कई दशकों से अदालत में विचाराधीन है लेकिन अब जाकर इस पर फैसला हुआ है।