Breaking News

गुड़हल फूल में छिपा है सेहत का खजाना

Posted on: 23 Jun 2018 11:56 by shilpa
गुड़हल फूल में छिपा है सेहत का खजाना

नई दिल्ली : हमारे स्वस्थ जीवन के लिये ईश्वर ने हमें एक बेहद सुंदर प्रकृति बना कर दी है। जो भी चीजें हम अपने जीवन के लिये इस्तेमाल करते है वो प्रकृति की ही संपत्ति है जिसे हमें सहेज कर रखना चाहिये। हम प्रकृति के निकट रहते है। हमारी प्रकृति हमें कई प्रकार फुल , पेड़ , पौधे देती है जो हर प्रकार से हमारे काम आती है।

आज हम देख रहे है गुडहल के फुल किस तरह से हमारा स्वास्थ्य ठीक रखने के काम आते है। आयुर्वेद के अनुसार गुड़हल की जड़ों को पीस कर कई दवाएं बनाई जाती हैं।

1) अगर गुडहल को गरम पानी के साथ या फिर उबाल कर फिर हर्बल टी के जैसे पिया जाए तो यह हाई ब्लड प्रेशर को कम करेगा और बढे कोलेस्ट्रॉल को घटाएगा क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट होता है।

2) गुडहल के पत्ते तथा फूलों को सुखाकर पीस लें। इस पावडर की एक चम्मच मात्रा को एक चम्मच मिश्री के साथ पानी से लेते रहने से स्मरण शक्ति बढाती है। तथा स्नायु बलशाली होते है।

3) गुडहल से बनी चाय को प्रयोग सर्दी-जुखाम और बुखार आदि को ठीक करने के लिये प्रयोग की जाती है।

4) गुडहल का फूल काफी पौष्टिक होता है क्योंकि इसमें विटामिन सी, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट होता है। यह पौष्टिक तत्व सांस संबन्धी तकलीफों को दूर करते हैं। यहां तक की गले के दर्द को और कफ को भी हर्बल टी सही कर देती है।

5) यदि चेहरे पर बहुत मुंहसे हो गए हैं तो लाल गुडहल की पत्तियों को पानी में उबाल कर पीस लें और उसमें शहद मिला कर त्वचा पर लगाए |

6) गुड़हल के फूल का अर्क दिल के लिए उतना ही फायदेमंद है जितना रेड वाइन और चाय। डायटिंग करने वाले या गुर्दे की समस्याओं से पीडित बिना चीनी मिलाए पीये , क्योंकि इसमें प्राकृतिक मूत्रवर्धक गुण होते हैं।

7) गुडहल के फूलों का असर बालों को स्वस्थ्य बनाने के लिये भी होता है। इसे पानी में उबाला जाता है और फिर लगाया जाता है जिससे बालों का झड़ना रुक जाता है। यह एक आयुर्वेद उपचार है। इसका प्रयोग केश तेल बनाने मे भी किया जाता है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com