बीते कुछ वर्षों में विभिन्न महामारी और संक्रमण ने विश्वभर के सामान्य जनजीवन को पूरी तरह से झंकझोड़ दिया है। भारत सहित दुनियाभर में भयानक तबाही मचाने वाले कोरोना आपदा काल के बाद मंकी पॉक्स के भारत में बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ाई थी। अब इसी दुर्भाग्यपूर्ण क्रम में एक नए संक्रमण हैंड फुट माउथ डिजीज (HFMD) का आगमन परेशानी खड़ी करने वाला साबित हो सकता है।

Also Read-America : बॉक्सिंग के पूर्व सितारे माइक टायसन की हालत खराब, महीने में पी जाते हैं 32 लाख का गांजा

टोमैटो फ्लू दिया गया है नाम

हैंड फुट माउथ डिजीज (HFMD) को टोमैटो फ्लू या टमाटर बुखार के नाम से भी जाना जा रहा है। यह फ्लू छोटे बच्चों और कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों को अपना शिकार बना रहा है। इसकी चपेट में आने वाले के शरीर पर गहरे लाल रंग के दाग और चकते बना जाते हैं। इसके साथ ही तेज बुखार, जोड़ों में सूजन, मतली, दस्त, डिहाइड्रेशन, जोड़ों में तेज दर्द जैसे लक्षण भी इस फ्लू से संक्रमित होने वाले व्यक्तियों में देखे जा रहे हैं।

Also Read-Jharkhand : खतरे में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की कुर्सी, अवैध खनन का मामला बना कारण

ये रखे सावधानियां

इस नए गंभीर संक्रमण से बचाव के लिए साफ सफाई का विशेष ध्यान देने की आवश्यक्ता बताई गई है। यह संक्रमण एक से पांच वर्ष के बच्चो के साथ ही उन लोगों में ज्यादा पनप रहा है जिनमें इम्युनिटी की कमी है। गौरतलब है कि भारत में केरल में 6 मई 2022 को पहली बार टोमैटो फ्लू का पहला मामला सामने आया था जिसके बाद से अब तक इसके 82 मामले दर्ज किए जा चुके हैं।