सरकार ने डाले आपके Account में लाखों रूपए! ये मैसेज आपके Mobile में भी खनखना रहा है, तो हो जाए सावधान

जहाँ एक ओर सोशल मीडिया (Social Media) कई तथ्यों और जानकारियों से यूज़र्स को अवगत कराने का सबसे तेज माध्यम माना जाता है, वहीं कुछ खबरें इन प्लेटफॉर्म्स पर ऐसी चल पड़ती हैं...

जहाँ एक ओर सोशल मीडिया (Social Media) कई तथ्यों और जानकारियों से यूज़र्स को अवगत कराने का सबसे तेज माध्यम माना जाता है, वहीं कुछ खबरें इन प्लेटफॉर्म्स पर ऐसी चल पड़ती हैं, जिनकी सत्यतता का अंदाज़ा लगा पाना कई दफा लगभग नामुमकिन हो जाता है। वह कहते हैं न कि हिरे को हिरा ही काटता है। इस मिसाल को कायम करते हुए PIB फैक्ट चेक तथ्यों को उजागर करने का काम बड़ी ही शालीनता से करता आ रहा है और इस प्रकार सरकारी नीतियों/योजनाओं पर गलत सूचना से पर्दाफाश करके जनता के सामने सच लाने का बखूबी काम कर रहा डिपार्टमेंट PIB फैक्ट चेक अब तथ्यों की जाँच करने के सबसे सफलतम उदाहरणों में से एक बन चुका है।

Must Read : सेरोसॉफ़्ट ने बढ़ाया शहर का मान, लीडिंग एजुकेशन इ आर पी सॉलूशन प्रोवाइडर ऑफ़ दी ईयर के अवार्ड से हुआ सम्मानित

इस प्लेटफॉर्म ने देश के अपने माइक्रोब्लॉगिंग मंच, कू के माध्यम से सोशल मीडिया पर चलने वाली कई जालसाज़ सरकारी योजनाओं का पर्दाफाश किया है। लम्बे समय से सोशल मीडिया पर शोर मचा हुआ है कि मोदी सरकार ने फलाना योजना शुरू की है, जिसमें तमाम सुविधाएँ आम जनता को दी जाएँगी, इनमें सबसे अधिक धोखाधड़ी यूट्यूब पर देखने में आ रही है। कई यूट्यूब चैनल्स विभिन्न सरकारी योजनाओं से संबंधित कॉन्टेंट शेयर करते हैं। इनमें से कई चैनल्स वीडियो कॉन्टेंट के माध्यम से भी इन योजनाओं का ज़िक्र करते नज़र आ जाते हैं, जो वास्तव में मौजूद ही नहीं होती हैं और जिनकी तथ्यता का अंदाज़ा लगा पाना बेहद कठिन होता है। यूट्यूब पर दिखाई देने वाली ऐसी जालसाज़ सरकारी योजनाओं से सावधान रहें।

कू ऐप पर इसकी जानकारी देते हुए PIB फैक्ट चेक ने कहा है:

कुछ यूट्यूब चैनल्स विभिन्न सरकारी योजनाओं से संबंधित विवरण प्रदान करते हैं, जो कि वास्तव में मौजूद ही नहीं हैं।सतर्क रहे! धोखेबाजों द्वारा दुर्भावनापूर्ण इरादे से बनाए गए कॉन्टेंट के झाँसे में न आएँ।

#PIBFacTree

वहीं एक अन्य जालसाज मैसेज से यूज़र्स को रूबरू कराते हुए PIB फैक्ट चेक ने कहा है:

सोशल मीडिया पर प्रसारित एक #Fake मैसेज का दावा है कि आप फंक्शन्स में भोजन की बर्बादी को रोकने के लिए ‘𝟭𝟬𝟵𝟴’ पर कॉल कर सकते हैं

#PIBFactCheck

▶️1098 एक चाइल्डलाइन इमरजेंसी फोन सर्विस है, जो संकट में बच्चों को सहायता प्रदान करती है
▶️यह जरूरतमंदों को भोजन वितरित नहीं करता है

प्रधानमंत्री कन्या सम्मान योजना –

इस योजना के तहत केंद्र सरकार दे रही है सभी बेटियों को 2500 रूपए की धनराशि सीधे बैंक खाते में।

महिला स्वरोजगार योजना – 

केंद्र सरकार इस योजना के तहत दे रही है सभी महिलाओं के खाते में 100000 रूपए की नकद राशि।

पीएम नारी शक्ति योजना 2021 – 

बिना ग्यारंटी, बिना लोन और बिना सिक्योरिटी के एसबीआई दे रहा है सभी महिलाओं को 25 लाख का लोन।

इस तरह की जालसाज योजनाओं के झाँसे में भोली-भाली जनता को लपेटकर ये साइबर क्रिमिनल्स महत्वपूर्ण जानकारी हथियाकर रफूचक्कर हो जाते हैं। एक बार बैंक खाते आदि की जानकारी मिल जाने के बाद ये क्रिमिनल्स इसका गलत उपयोग कर पूरा पैसा हथिया लेते हैं, और हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रह जाते हैं। इसलिए इसे जालसाजों से सतर्क रहें, चौकन्ने रहें।

कुछ जाली योजनाएँ ये भी हैं – 

सरकार ने आपके खाते में भी भेजे हैं 2.67 लाख रूपए

प‍िछले कुछ द‍िनों से एक मैसेज वायरल हो रहा है, ज‍िसमें यह दावा क‍िया जा रहा है क‍ि सरकार ने आपके बैंक अकाउंट में 2.67 लाख रूपए ट्रांसफर क‍िए हैं। इस मैजेस के अंत में आपसे एक लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है। यदि आपके पास ऐसा ही कोई मैसेज आया है, तो सावधान हो जाइए। यह महज़ फ्रॉड है, और कुछ भी नहीं।

इस सरकारी स्कीम में 10,100 रूपए जमा करने पर मिल रहे हैं 30 लाख रूपए

सरकार आपको बस 10,100 रूपए जमा करने पर 30 लाख रूपए दे रही है। इसके लिए सरकार ने चिट्ठी भी जारी की है। दरअसल, भारत सरकार और अशोक स्तंभ के साथ सर्कुलेट हो रहे एक चिट्ठी में यह दावा किया जा रहा है कि आपके अकाउंट में 30 लाख रूपए डिपॉजिट किए गए हैं। यह खबर बिल्कुल गलत है।

किसान क्रेडिट कार्ड पर सरकार माफ करेगी ब्‍याज

यदि आपके पास भी ऐसा कोई मैसेज आया है, ज‍िसमें दावा क‍िया जा रहा है क‍ि सरकार की तरफ से क‍िसान क्रेड‍िट कार्ड के जरिए क‍िसानों को ब‍िना ब्‍याज लोन द‍िया जा रहा है, तो यह खबर आपके ल‍िए ही है। लेकिन जरूरी है क‍ि आप सावधान हो जाएँ। पीआईबी की तरफ से इस बारे में आम लोगों तक सही जानकारी पहुँचाई जा रही है।

इन सभी नकली योजनाओं का पीआईबी ने पर्दाफाश कर सफाया कर दिया है।

आप भी कर सकते हैं ऐसे पता

आपके पास ऐसा कोई मैसेज आए तो आप इसका फैक्‍ट चेक (हकीकत) पीआईबी के माध्‍यम से करा सकते हैं। इसके लिए आपको https://factcheck.pib.gov.in/ पर विजिट करना होगा। इसके अलावा आप इसके ल‍िए व्‍हाट्सएप नंबर +918799711259 या ईमेलः pibfactcheck@gmail.com पर भी जानकारी मेल कर सकते हैं।