Gold Bond: आज से पांच दिन तक सस्ता सोना खरीदने का मौका, जानिए किस रेट पर खरीद सकेंगे

सरकार फिर सस्ता सोना खरीदने का मौका दे रही है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) योजना 2022-23 की दूसरी खेप सोमवार यानी 22 अगस्त से खुल रही है। इसमें अगले पांच दिन तक यानी 26 अगस्त तक निवेश कर सकते हैं।

सरकार फिर सस्ता सोना खरीदने का मौका दे रही है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) योजना 2022-23 की दूसरी खेप सोमवार यानी 22 अगस्त से खुल रही है। इसमें अगले पांच दिन तक यानी 26 अगस्त तक निवेश कर सकते हैं। इस बार आरबीआई ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए 5,197 रुपये प्रति ग्राम का भाव तय किया है, जबकि दिल्ली सराफा बाजार में सोना करीब 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम चल रहा है। अगर आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए ऑनलाइन तरीके से आवेदन करते हैं तो प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट मिलेगी। इसका मतलब आपको एक ग्राम सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए सिर्फ 5,147 रुपये ही चुकाने होंगे।

Also Read – लाल सिंह चड्ढा के फ्लॉप होने पर अनुपम खेर ने आमिर खान पर साधा निशाना, कह दी यह बड़ी बात 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीदने पर इश्यू प्राइस पर हर साल 2.50 फीसदी का निश्चित ब्याज मिलता है। यह राशि हर 6 महीने में आपके खाते में पहुंच जाती है। हालांकि, इस पर स्लैब के हिसाब से टैक्स चुकाना पड़ता है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की मैच्योरिटी अवधि 8 साल होती है। इस अवधि के बाद होने वाले लाभ पर कोई टैक्स नहीं लगता। अगर आप 5 साल बाद एसजीबी से पैसे निकालते हैं तो इससे होने वाले लाभ पर 20.80 फीसदी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स टैक्स लगता है।

  • सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए नकद, डिमांड ड्राफ्ट या इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग के जरिये भुगतान कर सकते हैं। नकद में अधिकतम 20 हजार रुपये तक का भुगतान कर सकते हैं।
  • एसजीबी में एक व्यक्ति 4 किलोग्राम तक सोने में निवेश कर सकता है। हिंदू अविभाजित परिवारों और ट्रस्टों के लिए यह सीमा 20 किलोग्राम है।

सोने में निवेश का अच्छा मौका
लगातार बढ़ रही उच्च महंगाई और वैश्विक अनिश्चितता के बीच गोल्ड बॉन्ड के जरिये यह सोने में निवेश का अच्छा मौका है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में पैसा लगाना आकर्षक निवेश माना जाता है। इसमें खरीदार को शुद्धता और सुरक्षा की चिंता नहीं करनी पड़ती है। इसके साथ ही मेकिंग शुल्क का भी झंझट नहीं रहता है।